• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कांग्रेस खुले मन से कर रही ममता दीदी का स्वागत, BJP के खिलाफ 2024 के लिए तैयार हो रहा है गेमप्लान!

कांग्रेस खुले मन से कर रही ममता दीदी का स्वागत, BJP के खिलाफ 2024 के लिए तैयार हो रहा है गेमप्लान!

ममता बनर्जी और कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच संबंध बेहद अच्छे हैं. (फोटो: Reuters)

Mamata Banerjee Delhi Tour: राजनीतिक पंडितों का कहना है कि इन बैठकों को ऐसे समझा जा सकता है कि बीजेपी के खिलाफ जंग में कांग्रेस (Congress) क्षेत्रीय दिग्गजों को भी शामिल करने का लचीला रुख अपना रही है.

  • Share this:
    (कमालिका सेनगुप्ता)

    नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव 2024 (Loksabha Election 2024) को आने में अभी भले ही तीन साल का वक्त हो, लेकिन कांग्रेस और पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच प्रस्तावित बैठकें नए समीकरण तैयार करती नजर आ रही हैं. खबरें हैं कि 2024 में विपक्षी दल बीजेपी (BJP) के विजय रथ को रोकने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के खिलाफ एकजुट होने की योजना पर काम कर रहे हैं. इनमें पांच दिनों के दिल्ली दौरे पर पहुंची बनर्जी को विपक्षी दल के बड़े खिलाड़ी के रूप में भी देखा जा रहा है.

    तृणमूल कांग्रेस की राज्य में जीत के बाद पहली बार दिल्ली दौरे पर पहुंचीं सीएम बनर्जी पहले दिन कमलनाथ, आनंद शर्मा और अभिषेक मनु सिंघवी से मुलाकात करेंगी. ये बैठकें संकेत दे रही हैं कि दोनों पार्टियां कुछ बड़ा करने का विचार कर रही हैं. इन तीनों वरिष्ठ नेताओं के साथ बंगाल सीएम के संबंध काफी अच्छे हैं. उदाहरण के लिए नाथ जब भी कोलकाता जाते हैं, तो बनर्जी से जरूर मिलते हैं. वहीं, बनर्जी के साथ सिंघवी का राज्यसभा कनेक्शन है.

    राजनीतिक पंडितों का कहना है कि इन बैठकों को ऐसे समझा जा सकता है कि बीजेपी के खिलाफ जंग में कांग्रेस क्षेत्रीय दिग्गजों को भी शामिल करने का लचीला रुख अपना रही है. सूत्र बताते हैं कि बीते कई सालों से पार्टी का पतन हो रहा है और यही कारण रहा कि गांधी परिवार ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से मुलाकात की थी.

    यह भी पढ़ें: क्‍या कांग्रेस के 'चाणक्य' बनेंगे प्रशांत किशोर? राजनीति में आने को लेकर PK ने कही ये बात

    बैठक के बाद से ही कांग्रेस भी टीएमसी के समर्थन में बात कर रही है. जैसे पेगासस मामले में बनर्जी के साथ एकता दिखाना, जिनके साथ कथित रूप से जासूसी की गई थी. वहीं, सीएम भी यह कहकर एहसान लौटा रही हैं कि वो नए मोर्चे के लिए तैयार हैं और ऐसा कांग्रेस के बगैर असंभव है. यह सभी जानते हैं कि बनर्जी और कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच संबंध बेहद अच्छे हैं.

    इधर, बंगाल में बनर्जी और मोदी के साथ विरोध कर रही कांग्रेस को बुरी हार का सामना करना पड़ा था. चुनाव नतीजे घोषित होने के बाद कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा था कि वो हाईकमान को सलाह देंगे कि जिस भवानीपुर सीट से बनर्जी खड़ी हो रही हैं, वहां अपना उम्मीदवार खड़ा ना किया जाए. 2024 चुनाव से पहले टीएमसी और कांग्रेस का साथ आना विपक्ष की एकता के लिए अच्छा रहेगा, लेकिन चुनाव में यह कैसे सफलता दिलाएगा, इस बात का फैसला समय करेगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज