अपना शहर चुनें

States

ममता बनर्जी का बीजेपी पर हमला, बोलीं- मैंने बहुत सरकारे देखी हैं, 300 सीटों पर किस बात का अहंकार?

ममता बनर्जी ने बीजेपी और केंद्र की सरकार पर हमला बोला है.
ममता बनर्जी ने बीजेपी और केंद्र की सरकार पर हमला बोला है.

पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने केंद्र की मोदी सरकार पर पर अंहकारी होने का आरोप लगाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2021, 12:38 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने केंद्र की मोदी सरकार पर पर अंहकारी होने का आरोप लगाया है. एक बैठक में तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ने कहा कि पंजाब में किसानों का आंदोलन चल रहा है. अगर आपको पसंद नहीं है तो क्या उन्हें आतंकी बोले देंगे? नहीं यह ठीक नहीं हैं. ममता ने कहा कि लाखों किसान दिल्ली पहुंचे लेकिन कोई हिंसा नहीं हुई लेकिन भारतीय जनता पार्टी देश को जलाती है. खुद नहीं जलते हैं. सबको जलाते हैं.

ममता ने दावा किया कि राजस्थान में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि हमारे पास 50 लाख व्हाट्सऐप ग्रुप है. हम अगर जनता को भड़काना चाहें तो हम कर सकते हैं. अगर यह कोई देश का गृह मंत्री कहे तो बात यही है , जो हम कल सुबह से देख रहे हैं. किसान ने कुछ नहीं किया लेकिन सब किसानों पर बेबुनियाद इल्जाम लगा रहे हैं.

मैंने बहुत सरकारें देखीं- ममता
ममता ने कहा कि मैंने राजीव गांधी, मनमोहन सिंह, गुलजार साहब, देवेगौड़ा, नरसिम्हा राव की सरकारें देखीं. राजीव गांधी के पास तो 400 की मेजॉरिटी थी. इन लोगों के पास 300 सीट है, वह भी कैसे, आपको पता है. उसके बाद भी इतना अंहकार है.



कृषि कानूनों के पास होने की प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए ममता ने कहा कि हमारी पार्टी ने वोट की मांग की लेकिन उन्होंने सिर्फ कहा वोट और कानून बन गया. पसंद नहीं है तो गोली मार दो. ममता ने आरोप लगाया कि बीजेपी पैसा देकर लोगों को रैली में बुला रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्रीय जांच एजेंसियों का इस सरकार में जमकर दुरुपयोग हुआ. बंगाल में रह रहे अलग-अलग राज्य के लोगों के साथ एक मीटिंग में ममता ने दावा किया कि टीएमसी की सरकार आने के बाद किसी के साथ कोई अत्याचार नहीं हुआ.

ममता ने कहा कि इतनी ढिठाई कभी किसी में नहीं रही. हर राज्य से कोई ना कोई मंत्री, प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति हुआ. लेकिन ऐसा कभी नहीं देखा. सीएम ने कहा कि मैं जमीनी कार्यकर्ता हूं और मैं जमकर मुकाबला करूंगी. ममता ने कहा कि ये मुझे क्या हिन्दी सिखाएंगे. मैं कान पकड़कर इनको हिन्दी सिखाऊंगी.

मैं बिना कुछ देखें हिन्दी में भाषण देती हूं- ममता
हिन्दी भाषियों समेत अन्य भाषाओं के लोगों के साथ बैठक करते हुए कहा कि राज्य में 2 दिन छठ की छुट्टी दी. विश्वविद्यालय खोले जा रहे हैं. अगर हमें बांग्ला बोलने और सीखने का हक है तो किसी को हिन्दी या गुरमुखी, या नेपाली या उर्दू सीखने का हक क्यों नहीं है?

ममता ने बिना नाम लिये दावा कि एक नेता टेलीप्रॉम्पटर देखकर गुजराती लिपी  लिखी हिन्दी पढ़कर भाषण देते हैं. मैं बिना कुछ देखें हिन्दी में भाषण दे सकती हूं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज