• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • क्‍या TMC की बढ़ेंगी मुश्‍क‍िलें? ममता के करीबी रहे की क‍िताब में खुलासा, चारा से बड़ा घोटाला है शारदा चिटफंड

क्‍या TMC की बढ़ेंगी मुश्‍क‍िलें? ममता के करीबी रहे की क‍िताब में खुलासा, चारा से बड़ा घोटाला है शारदा चिटफंड

पश्चिम बंगाल में 2 मई को नतीजे आएंगे

पश्चिम बंगाल में 2 मई को नतीजे आएंगे

सीबीआई के पूर्व संयुक्त निदेशक और ममता के बेहद करीबी रहे यूएन बिश्वास ने अपनी नई किताब धम्‍मा-अधम्मा में कई सनसनीखेज खुलासे किये है. बिश्वास ने अपनी किताब में शारदा चिट फंड घोटाले को देश का सबसे बड़ा घोटाला बताया है.

  • Share this:

चारा घोटाले में लालू प्रसाद को पहली बार सलाखों के पीछे पहुंचाने वाला शख्स फिर सुर्खियों में है। सीबीआई से रिटायर होने के बाद 2011 में राजीनिति का दामन थामने वाले यूएन बिश्वास ने अपनी नई किताब में कई सनसनीखेज खुलासे किये है. बिश्वास ने अपनी किताब में शारदा चिट फंड घोटाले को देश का सबसे बड़ा घोटाला बताया है. इतना ही नहीं बिश्वास ने अपनी किताब में यह भी दावा किया है कि राकेश अस्थाना को सीबीआई निदेशक के पद तक पहुंचने से रोकने के लिए साजिश की गई. अपनी किताब में यूएन बिश्वास ने लालू प्रसाद को गिरफ्तार करने में आई दिक्कतों का भी जिक्र किया है.

चारा से भी बड़ा घोटाला है शारदा चिटफंड
सीबीआई के पूर्व संयुक्त निदेशक और ममता के बेहद करीबी रहे यूएन बिश्वास की नई किताब धम्‍मा-अधम्मा अभी प्रकाशित नहीं हुई है, लेकिन इस किताब में लिखी बातें पश्चिम बंगाल से लेकर देशभर में सुर्खियां बटोर रही है. 79 वर्षीय उपेन विश्वास ने इस किताब में कई सनसनीखेज आरोप लगाए हैं. एक इंटरव्यू में सीबीआई के पूर्व अधिकारी और ममता के बेहद करीबी रहे यूएन बिश्वास ने कहा है कि शारदा चिटफंड जो साल 2013 में सुर्खियों में आया वो ममता सरकार की ही देखरेख में किया गया एक बड़ा घोटाला था. अपनी किताब में बिश्वास ने विस्तार से बताया है कि कैसे इस घोटाले में फंसे ममता के करीबियों को बचाने की भरपूर कोशिश की गई थ.

यह किताब ऐसे समय में आई है जब पश्चिम बंगाल में चुनाव होने वाले हैं और ममता के करीबी एक-एक कर उनका साथ छोड़ रहे हैं. यहां बता दें कि यूएन बिश्वास 2011 से 2016 तक ममता बनर्जी कैबिनेट में पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के मंत्री थे. 2016 में चुनाव हारने पर ममता बनर्जी ने उन्हें पश्चिम बंगाल के एससी, एसटी और ओबीसी आयोग का अध्यक्ष बना दिया. 10 साल तक ममता की परछाई बनकर साथ करने वाले यूएन बिश्वास अब राजनीति से संन्यास ले चुके हैं और किताब लिखने में व्यस्त है. उनकी नई किताब कुछ ही समय में बाजार में आने वाली है लेकिन प्रकाशित होने से पहले ही किताब की बातें बाहर आ गई हैं और सुर्खियां बटोर रही हैं.

शारदा चिटफंड के गुनहगार भी बच नहीं पाते
यूएन बिश्वास ने लिखा है कि अगर राकेश अस्थाना के खिलाफ साजिश नहीं हुई होती और उन्हें सीबीआई चीफ के पद तक पहुंचने से नहीं रोका गया होता तो शारदा चिटफंड के गुनहगार भी बच नहीं पाते. आईपीएस अधिकारी राकेश अस्थाना की जमकर तारीफ करते हुए यूएन बिश्वास ने लिखा है कि जिस तरह लालू यादव आज चारा घोटाले में जेल में उसी तरह शारदा स्कैम के गुनहगार भी सलाखों के पीछे होते. गौरतलब है कि हाल ही में करप्शन से जुड़े उस मामले में सीबीआई की ओर से राकेश अस्थाना को क्लीन चिट दे दी गई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज