अपना शहर चुनें

States

ममता बनर्जी बोलीं- सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो दिल्ली हिंसा की जांच

पश्चिम बंगाल के माल्दा जिले के सुजापुर में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को संबोधित करतीं राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी.
पश्चिम बंगाल के माल्दा जिले के सुजापुर में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को संबोधित करतीं राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी.

पश्चिम बंगाल (West Bengal) की सीएम ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने मांग की है कि दिल्ली हिंसा (Delhi violence) की सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की निगरानी में न्यायिक जांच होनी चाहिए. हिंसा की इन घटनाओं में अब तक 42 लोग मारे गए हैं.

  • Share this:
सुजापुर (पश्चिम बंगाल). पश्चिम बंगाल (West Bngal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने बुधवार को कहा कि दिल्ली हिंसा (Delhi violence) की सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की निगरानी में न्यायिक जांच होनी चाहिए. हिंसा की इन घटनाओं में कम से कम 42 लोग मारे गए हैं. राज्य के माल्दा जिले के सुजापुर में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए बनर्जी ने कहा कि उत्तर-पूर्व दिल्ली में हुई हिंसा की सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में न्यायिक जांच होनी चाहिए.

CAA  के समर्थन और विरोध में प्रदर्शन के दौरान भड़क गई थी हिंसा
आपको जानकारी के लिए बता दें कि, दिल्ली हिंसा के बाद पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है. अब तक हिंसा के आरोपों में पुलिस ने 1,647 लोगों को पकड़ा है. हिंसा की घटनाओं के बाद अब तक 531 मामले दर्ज किए गए हैं. इनमें शस्त्र अधिनियम के 47 मामले भी शामिल हैं. गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA)  के समर्थन और विरोध के दौरान यह हिंसा भड़की थी. उसके बाद इलाके में शांति बहाली के प्रयास लगातार जारी हैं. घटना के बाद बुधवार को कांग्रेस नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल वहां दौरा करने पहुंचा, जिसमें राहुल गांधी भी शामिल थे.

दिल्ली हिंसा में केवल हत्या के मामलों की जांच करेगी अपराध शाखा
दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा केवल हत्या के उन मामलों की जांच करेगी, जो राष्ट्रीय राजधानी के उत्तर-पूर्वी जिले में हिंसा के बाद दर्ज किए गए थे. सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि दंगों के वे मामले जो हत्या से जुड़े हैं, उनकी जांच अपराध शाखा का विशेष जांच दल करेगा, बाकी के मामले दिल्ली पुलिस की सामान्य टीमें देखेंगी. नागरिकता संशोधन एक्ट के समर्थक और विरोधी समूहों के बीच उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद इलाके में 23 फरवरी को झड़प हुई थी जिसने हिंसक रूप ले लिया था. इसके बाद दिल्ली के कई इलाकों में हिंसा फैल गई थी.



ये भी पढे़ं - 

लौटे MLAs ने लोगों को दिखाया BJP का चेहरा: जीतू, कमलनाथ बोले- स्थिर है सरकार

बिहार विधानसभा चुनाव: 'वन बूथ 10 यूथ' नहीं, सप्तऋषि जिताएंगे BJP को चुनाव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज