अपना शहर चुनें

States

NRC, CAB के कारण किसी भी नागरिक को शरणार्थी नहीं बनने देंगे : ममता

ममता बनर्जी ने NRC और CAB को एक ही सिक्के के दो पहलू बताया है (फाइल फोटो)
ममता बनर्जी ने NRC और CAB को एक ही सिक्के के दो पहलू बताया है (फाइल फोटो)

तृणमूल कांग्रेस (TMC) के सत्ता में रहते बंगाल में कभी NRC और CAB की इजाजत नहीं दिए जाने का आश्वासन देते हुए ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने इन्हें एक ही सिक्के के दो पहलू बताया.

  • Share this:
खड़गपुर. पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) और नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill- CAB) का विरोध करने के लिए विपक्षी दलों (Opposition Parties) का आह्वान करते हुए कहा कि देश के एक भी नागरिक को शरणार्थी (Refugee) नहीं बनने दिया जाएगा.

तृणमूल कांग्रेस (TMC) के सत्ता में रहते बंगाल में कभी NRC और CAB की इजाजत नहीं दिए जाने का आश्वासन देते हुए ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने इन्हें एक ही सिक्के के दो पहलू बताया.

पार्टी को हाल ही में मिली जीत के चलते आयोजित की गई थी रैली
ममता बनर्जी ने खड़गपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, “NRC और CAB को लेकर चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. हम बंगाल में कभी इसकी इजाजत नहीं देंगे. वे किसी वैध नागरिक (Legal Citizen) को यूं ही देश से बाहर नहीं फेंक सकते या उसे शरणार्थी नहीं बना सकते.” इस रैली का आयोजन उपचुनावों में हाल में पार्टी को मिली जीत को लेकर किया गया था.
ममता बनर्जी ने कहा था, 'कभी वास्तविकता नहीं बनेगा NRC'


इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने NRC पर भाजपा (BJP) की बयानबाजी को लेकर निशाना साधा था और कहा था कि पूरे भारत में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर कभी भी एक वास्तविकता नहीं हो सकता क्योंकि देश में रहने वाले सभी लोग उसके वैध नागरिक (Legal Citizen) हैं. उन्होंने कहा था कि इस देश में रहने वाले सभी लोग उसके वैध नागरिक हैं और कोई भी उनकी नागरिकता (Citizen) नहीं छीन सकता.

'देश में दशकों से रह रहे व्यक्ति को अचानक कैसे घोषित कर सकते हैं विदेशी'
पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने कहा था कि एनआरसी (NRC) को लेकर उनका विरोध केवल राजनीतिक नहीं बल्कि मानवीय आधार (Humanitarian Ground) को लेकर भी है.

तृणमूल कांग्रेस (TMC) प्रमुख बनर्जी ने कहा था, ‘‘देश में पिछले कई दशक से रह रहे किसी व्यक्ति को आप कैसे अचानक विदेशी घोषित कर सकते हैं. यह पूरी तरह अस्वीकार्य है. अखिल भारतीय स्तर (All India Level) पर एनआरसी कभी हकीकत नहीं बनेगी.’’

यह भी पढ़ें: विपक्ष के भारी विरोध के बीच नागरिकता संशोधन विधेयक लोकसभा में पेश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज