Assembly Banner 2021

कोरोना के बिगड़ते हालात पर 6:30 बजे PM मोदी की बैठक, ममता नहीं होंगी शामिल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी। (फोटो: पीटीआई)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी। (फोटो: पीटीआई)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की ओर से बुलाई गई बैठक में शामिल नहीं होंगी.

  • Share this:
कोलकाता/नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) कोविड-19 की स्थिति पर मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की तरफ से बुलाई गई डिजिटल बैठक में शामिल नहीं होंगी. राज्य सरकार के सूत्रों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. सूत्रों ने बताया कि मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय बैठक में मौजूद रहेंगे. उन्होंने कहा कि बनर्जी राज्य में जारी विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार में व्यस्त हैं.

कोविड-19 की स्थिति पर मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शाम साढ़े छह बजे बैठक बुलाई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में एक दिन में कोविड-19 के 1,26,789 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़ कर 1,29,28,574 हो गए हैं जबकि वायरस से अब भी संक्रमित लोगों की संख्या फिर से नौ लाख का आंकड़ा पार कर गई है.

उद्धव रखेंगे 4 मांग!
वहीं मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के सामने कुछ मांगें रख सकते हैं. पीएम मोदी गुरुवार शाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा करेंगे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि सीएम ठाकरे, पीएम नरेंद्र मोदी के सामने कुछ मांगें रखने पर विचार कर रहे हैं.
राजेश टोपे ने कहा, 'देश में सबसे ज्यादा टीके महाराष्ट्र में लगाए जा रहे हैं. रोजाना चार लाख टीके लग रहे हैं.' उन्होंने कहा, 'हम टीकाकरण की संख्या को बढ़ाकर 6 लाख से ज्यादा कर रहे हैं.' उन्होंने दावा किया है कि सरकार के पास रोज 6 लाख लोगों को वैक्सीन देने की क्षमता है, तो उन्हें हर हफ्ते 40 लाख और हर महीने 1.60 करोड़ डोज मिलने चाहिए.



केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बुधवार को महाराष्ट्र एवं कुछ अन्य राज्यों पर लोगों का ध्यान बंटाने और उनमें दहशत फैलाने के लिए ‘गैर जिम्मेदाराना बयान देकर एवं निंदनीय’ प्रयास के माध्यम से इस महामारी को लेकर अपनी ‘विफलताओं’ को ढकने की कोशिश करने का आरोप लगाया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज