शाह का बंगाल सरकार पर निशाना- ममता को हत्याओं पर श्वेत-पत्र लाना चाहिए, CAA लागू किया जाएगा

अमित शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा एसिड अटैक होते हैं.
अमित शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा एसिड अटैक होते हैं.

अमित शाह ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, विकास के नए युग में हम एक मजबूत बंगाल बनाने का लक्ष्य रखते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 9:53 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. केंद्रीय मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit shah) ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) से कहा कि वह राज्य में राजनीतिक हत्याओं पर श्वेत-पत्र लेकर आएं और हैरानी जताई कि प्रदेश सरकार ने क्यों राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) को अपराध के आंकड़े नहीं भेजे. संशोधित नागरिकता कानून के लागू होने का जिक्र करते हुए शाह ने कहा कि कानून अपनी जगह है और यह केंद्र सरकार का संकल्प है.

शाह ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, विकास के नए युग में हम एक मजबूत बंगाल बनाने का लक्ष्य रखते हैं. ममता बनर्जी अपने भतीजे को अगला मुख्यमंत्री बनाने का लक्ष्य रखती हैं. उन्होंने कहा, “पश्चिम बंगाल सरकार ने 2018 से एनसीआरबी को अपराध के आंकड़े नहीं भेजे हैं. मैं कहना चाहता हूं कि ममता बनर्जी राजनीतिक हत्याओं पर श्वेत-पत्र लेकर आएं. राजनीतिक हत्याओं के लिहाज से बंगाल शीर्ष पर है.”

राजनीतिकरण और अपराधीकरण का लगाया आरोप
राज्य में सरकारी अधिकारियों का राजनीतिकरण और अपराधीकरण होने का आरोप लगाते हुए केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, “पश्चिम बंगाल में तीन कानून हैं- एक भतीजे के लिये, एक अल्पसंख्यकों के तुष्टिकरण के लिये और एक आम लोगों के लिये.”राज्यपाल जगदीप धनखड़ और प्रदेश सरकार के बीच टकराव पर शाह ने कहा कि राज्यपाल अपने संवैधानिक दायरे के तहत काम कर रहे हैं.




उन्होंने कहा, “राज्यपाल के खिलाफ इस्तेमाल शब्द अस्वीकार्य हैं. मैं जानना चाहूंगा कि (दार्जिलिंग) के जिलाधिकारी कहां हैं जिन्हें राज्यपाल से मुलाकात के बाद हटाया गया था.”
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज