• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • NMP पर ममता का हमला, बोलीं- देश की संपत्ति को ऐसे बेच नहीं सकती मोदी सरकार

NMP पर ममता का हमला, बोलीं- देश की संपत्ति को ऐसे बेच नहीं सकती मोदी सरकार

ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है (फाइल फोटो)

ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है (फाइल फोटो)

ममता ने राज्य सचिवालय नबन्ना में पत्रकारों से कहा, ’हम इस चौंकाने वाले और दुर्भाग्यपूर्ण फैसले की निंदा करते हैं. ये संपत्ति देश की हैं. ये न तो मोदी की संपत्ति हैं और न ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की. वे (केंद्र सरकार) अपनी मर्जी से देश की संपत्ति को नहीं बेच सकते.’

  • Share this:

    कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal CM Mamata Banerjee) ने बुधवार को राष्ट्रीय मौद्रिकरण पाइपलाइन (एनएमपी) नीति को लेकर केंद्र पर निशाना साधते हुए दावा किया कि यह देश की संपत्ति बेचने की साजिश है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या भाजपा की संपत्ति नहीं हैं. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने एनएमपी को ’चौंकाने वाला और दुर्भाग्यपूर्ण फैसला’ करार देते हुए आरोप लगाया कि इन संपत्तियों को बेचने से मिले पैसों का इस्तेमाल चुनाव के दौरान विपक्षी दलों के खिलाफ किया जाएगा.

    ममता ने राज्य सचिवालय नबन्ना में पत्रकारों से कहा, ’हम इस चौंकाने वाले और दुर्भाग्यपूर्ण फैसले की निंदा करते हैं. ये संपत्ति देश की हैं. ये न तो मोदी की संपत्ति हैं और न ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की. वे (केंद्र सरकार) अपनी मर्जी से देश की संपत्ति को नहीं बेच सकते.’

    उन्होंने कहा कि पूरा देश इस ’जनविरोधी’ फैसले का विरोध करेगा और एक साथ खड़ा होगा. उन्होंने कहा, ’भाजपा को शर्म आनी चाहिए. किसी ने उन्हें हमारे देश की संपत्ति बेचने का अधिकार नहीं दिया है.’

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को छह लाख करोड़ रुपये की राष्ट्रीय मौद्रिकरण पाइपलाइन की घोषणा की थी.

    (Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज