भाईचारे की मिसालः कर्फ्यू तोड़ मुस्लिम ऑटो वाले ने प्रसव पीड़ा झेल रही हिंदू महिला को पहुंचाया अस्पताल

असम के हैलाकांडी में सांप्रदायिक हिंसा के बाद से लगा हुआ है कर्फ्यू

News18Hindi
Updated: May 15, 2019, 11:29 PM IST
भाईचारे की मिसालः कर्फ्यू तोड़ मुस्लिम ऑटो वाले ने प्रसव पीड़ा झेल रही हिंदू महिला को पहुंचाया अस्पताल
फाइल फोटो
News18Hindi
Updated: May 15, 2019, 11:29 PM IST
हिंसा, यह शब्द सुनाई देते ही जहन में जो भी कुछ आता है वह झकझोर के रख देने वाला होता है. लेकिन इस हिंसा के साथ एक और शब्द भी आता है वह है मानवता. ऐसी ही मानवता का उदाहरण एक ऑटो चालक ने पेश किया जब उसने हिंसा के चलते लगे कर्फ्यू को इसलिए तोड़ दिया क्योंकि उसे एक प्रसव पीड़ा झेल रही महिला को अस्पताल पहुंचाना था. यह मामला है असम के हैलाकांडी का, जहां सांप्रदायिक हिंसा के चलते कर्फ्यू लगा हुआ था.

जब रुबन को लेकर निकल पड़ा मकबूल


इस कर्फ्यू के बीच ही हिंदू महिला रुबन को प्रसव पीड़ा हो गई. इस दौरान उसे अस्पताल तक ले जाने के लिए भी एंबुलेंस की जरूरत थी लेकिन कर्फ्यू के चलते एंबुलेंस भी पहुंचने में असमर्थ थी. ऐसे में रुबन पास ही रहने वाले मकबूल के घर पहुंची और मदद की गुहार की. मकबूल ने भी बिना समय गंवाए अपना ऑटो निकाला और कर्फ्यू को तोड़ता हुआ रुबन को अस्पताल पहुंचा दिया. रुबन ने अस्पताल में एक स्वस्‍थ्य बच्चे को जन्म दिया जिसका नाम शांति रखा गया है.

ये भी पढ़ें: SBI Clerk Pre-Exam 2019: जूनियर एसोसिएट प्री एग्जाम के जारी हुए एडमिट कार्ड, ऐसे करें डाउनलोड

प्रशासन ने भी जताया आभार
मकबूल के इस काम के लिए प्रशासन ने भी उसका आभार जताया और कहा कि हमें कौमी एकता के ऐसे और उदाहरण समाज में चाहिएं. गौरतलब है कि शुक्रवार को हुई सांप्रदा‌यिक हिंसा के बाद पुलिस गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और 15 अन्य घायल थे. वहीं उपद्रवियों ने 15 वाहन और 12 दुकानें भी क्षतिग्रस्त कर दी थीं.


एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार