स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन के ओएसडी के दफ्तर का गार्ड कोरोना वायरस से संक्रमित

स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन के ओएसडी के दफ्तर का गार्ड कोरोना वायरस से संक्रमित
स्वास्थ्य मंत्री के ओएसडी के दफ्तर का कर्मचारी कोरोना से संक्रमित पाया गया है

एम्स (AIIMS) के अधिकारियों का कहना है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाया गया गार्ड किस-किसके संपर्क में आया था इसका पता लगाने की कोशिश की जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2020, 1:18 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन (Health Minister Dr. Harshvardhan) के ओएसडी के दफ्तर में काम करने वाला एक शख्स कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाया गया है. इंडिया टुडे की एक खबर में इस बात का खुलासा हुआ है. स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के विशेष कार्य अधिकारी (Officer on Special Duty) के दफ्तर का गार्ड कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है. इस गार्ड की ड्यूटी ओएसडी के दिल्ली स्थित एम्स (AIIMS Delhi) दफ्तर में लगी हुई थी.

एम्स (AIIMS) के अधिकारियों का कहना है कि कोविड-19 (Covid-19) से संक्रमित पाया गया गार्ड किस-किसके संपर्क में आया था इसका पता लगाने की कोशिश की जा रही है. संबंधित अधिकारी क्वारंटाइन के लिए चले गए हैं और एम्स स्थित उनके दफ्तर को भी बंद कर दिया गया है.

इस घटना के सामने आने के बाद दफ्तर के पूरे स्टाफ को क्वारंटाइन के लिए भेज दिया गया है.



संक्रमण की स्थिति में हो रहा सुधार
वहीं स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने रविवार को कहा कि देश में कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति में सुधार हो रहा है और इसके परिणामस्वरूप ही देश में संक्रमण से प्रभावित हॉटस्पॉट जिलों के रूप में चिन्हित किये गये क्षेत्र अब सामान्य स्थिति की ओर अग्रसर हैं.

देश में कोविड-19 के फैलने की स्थिति के बारे में केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि इस समय भारत में कोविड-19 के रोगियों की मृत्युदर 3.1 है जबकि वैश्विक स्तर पर यह दर सात प्रतिशत है. 5913 लोगों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से दी जा चुकी है. स्वस्थ होने की दर लगभग 22 प्रतिशत है जो अधिकतर देशों के मुकाबले बेहतर है.

स्वास्थ्य मंत्री ने इस दौरान ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कोरोना वायरस के कुछ मरीजों से वीडियो कॉल के माध्यम से बात कर उनका हालचाल जाना.

एम्स के कोविड-19 अस्पताल में मरीजों की देखभाल के लिये रोबोट सेवा भी हाल ही में शुरु की गयी है. डॉ. हर्षवर्धन ने रोबोट के माध्यम से ही वीडियो कॉल पर मरीजों से बात की. उन्होंने मरीजों से एम्स में इलाज की सुविधाओं का फीडबैक भी लिया जिससे इनमें जरूरत के मुताबिक और अधिक सुधार किया जा सके.

(भाषा के इनपुट सहित)

ये भी पढ़ें-
मन की बात में PM बोले 1 महीने में कोरोना के खिलाफ जंग जीतनी होगीः जावड़ेकर

PM मोदी की मुख्यमंत्रियों से चर्चा, लॉकडाउन से निकलने के विकल्पों पर होगा विचार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज