Home /News /nation /

'मंदिर वहीं बनाएंगे, इन्कलाब जिन्दाबाद': नारेबाजी कॉम्पटीशन में बदला लोकसभा का शपथग्रहण समारोह

'मंदिर वहीं बनाएंगे, इन्कलाब जिन्दाबाद': नारेबाजी कॉम्पटीशन में बदला लोकसभा का शपथग्रहण समारोह

लोकसभा में शपथग्रहण समारोह के दौरान भारत माता की जय, जय श्री राम जैसे नारे सुनाई दिए

लोकसभा में शपथग्रहण समारोह के दौरान भारत माता की जय, जय श्री राम जैसे नारे सुनाई दिए

लोकसभा में शपथग्रहण समारोह के दौरान 'जय श्री राम' और 'भारत माता की जय' के नारे रुक-रुक का सुनाई दे रहे थे. जब उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने शपथ ली तो 'मंदिर वहीं बनाएंगे' के नारे भी सुनाई दिए.

    लोकसभा में यह नारेबाजी और गर्मजोशी के आदान-प्रदान का दिन था, क्योंकि कई नव-निर्वाचित सदस्यों ने सत्ता पक्ष और विपक्ष की तरफ से तेज नारेबाजी के बीच शपथ ली.

    लोकसभा में शपथग्रहण समारोह के दौरान 'जय श्री राम' और 'भारत माता की जय' के नारे रुक-रुक का सुनाई दे रहे थे. जब उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने शपथ ली तो 'मंदिर वहीं बनाएंगे' के नारे भी सुनाई दिए. साक्षी महाराज ने संस्कृत में शपथ ली और अन्त में 'भारत माता की जय' और 'जय श्री राम' का नारा लगाया.



    इस बीच मथुरा से बीजेपी सांसद हेमा मालिनी ने 'राधे-राधे' के साथ अपनी शपथ ली और भगवान कृष्ण की प्रशंसा में श्लोक का एक वाक्यांश सुनाया.

    कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव उन दिग्गज नेताओं में शामिल थे जिन्होंने 17वीं लोकसभा की शपथ ली. रायबरेली सीट से जीतकर संसद पहुंची सोनिया गांधी ने हिन्दी में शपथ ली. सोनिया गांधी के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान राहुल गांधी मोबाइल पर उनका वीडियो बनाते नजर आए.

    जब सोनिया गांधी ने शपथ ली तो कांग्रेस सदस्यों ने मेज थपथपाकर और बीजेपी सदस्यों ने हिन्दी में शपथ लेने के लिए उनका अभिवादन किया. सोनिया गांधी के तुरंत बाद बीजेपी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी को शपथ दिलाई गई. सोनिया गांधी और मेनका गांधी ने एक-दूसरे का अभिवादन स्वीकार किया.

    79 वर्षीय मुलायम सिंह यादव अपने बेटे और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ व्हील चेयर में संसद पहुंचे, स्वास्थ्य कारणों के चलते उन्हें उनके नंबर से पहले शपथ दिलाई गई. आजमगढ़ सीट से सांसद चुने गए अखिलेश यादव ने भी शपथ ली.

    बीजेपी सांसद ओम बिरला जो लोकसभा अध्यक्ष के पद के लिए एनडीए उम्मीदवार हैं, के शपथ लेने से पहले और बाद में जोरदार तालियां बजाई गई.

    कई नव-निर्वाचित सांसदों ने मंगलवार को शपथ के बाद उत्साहपूर्वक नारेबाजी की तो कुछ ने मजाकिया तौर पर और विरोधियों को दिखाने के लिए नारेबाजी की. पीठासीन अधिकारी ने कहा कि कोई भी नारा रिकॉर्ड में नहीं जाएगा.

    ये भी पढ़ें: रीवा के सांसद जनार्दन मिश्रा को शपथ लेने से रोका गया, फिर...

    बीजेपी सांसदों ने 'भारत माता की जय' और 'जय श्री राम' के नारे लगाते हुए शपथ ली. सत्तारूढ़ पार्टी के बेंचों से भी ऐसे ही नारे लगे जब विपक्षी पार्टी के सांसद, विशेष रूप से तृणमूल कांग्रेस के सांसद शपथ लेने के लिए उठे. टीएमसी के सांसदों ने 'जय दुर्गा' और 'जय हिंद' के नारे लगाए.

    गुरदासपुर से बीजेपी सांसद सनी देओल ने शपथ के दौरान 'देश की संप्रभुता और अखंडता को बनाए रखने' की बजाय 'देश की संप्रभुता और अखंडता को रोकने' कह दिया, इसके बाद वह मुस्कुराए और इसे संशोधित करके सही वाक्य कहा.

    दो सदस्यों को शपथ दो बार पढ़नी पड़ी. अजमेर से बीजेपी सांसद भागीरथ चौधरी ने पहले संस्कृत में शपथ लेनी शुरू की, लेकिन लोकसभा महासचिव ने कहा कि उन्होंने हिंदी को अपनी पसंदीदा भाषा के रूप में चुना है, इसलिए उन्हें हिन्दी में शपथ लेनी चाहिए.

    इसी तरह डोमरियागंज से सांसद जगदम्बिका पाल ने शुरुआत के कुछ शब्द छोड़ दिए. संभल से समाजवादी पार्टी सांसद शफीकुर रहमान बर्क ने वंदे मातरम के नारे पर आपत्ति जताई, सत्ता पक्ष के सांसदों ने उनका विरोध किया और माफी की मांग की.

    आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने 'इन्कलाब जिन्दाबाद' के नारे के साथ अपनी शपथ पूरी की. बादल ने 'वाहे गुरु का खालसा, वाहे गुरु की फतह' के साथ अपनी शपथ पूरी की.

    ये भी पढ़ें: जब संसद में सोनिया-मेनका और राहुल-वरुण का हुआ सामना...

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: BJP, Congress, Lok sabha, Lok Sabha 2019, Sonia Gandhi, TMC

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर