Home /News /nation /

mandis will remain open in punjab till may 31 after ban on export of wheat

गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध के बाद पंजाब में 31 मई तक खुली रहेंगी मंडिया

पंजाब के खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के मंत्री लाल चंद कटारुचक्को (एएनआई)

पंजाब के खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के मंत्री लाल चंद कटारुचक्को (एएनआई)

Punjab News: पंजाब सरकार ने केंद्र सरकार की सहमति से 232 मंडियों को फिर से 31 मई तक खुला रखने के आदेश जारी किए हैं. मंडियों को खुले रखने की घोषणा केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय के गेहूं के निर्यात पर रोक लगाने के हालिया फैसले के बाद की गई है.

अधिक पढ़ें ...

चंडीगढ़. भारत सरकार द्वारा गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने से अब गेहूं की कीमतों में गिरावट आने के आसार पैदा हो गए हैं, जिसके चलते पंजाब सरकार ने केंद्र सरकार की सहमति से अपनी 232 मंडियों को फिर से 31 मई तक खुला रखने के आदेश जारी किए हैं. यह फैसला उन किसानों को अपनी गेहूं मंडियों में एमएसपी पर बेचने का मौका देगा, जिन्होंने ऊंचे दाम मिलने की उम्मीद में गेहूं का स्टॉक जमा कर लिया है. 232 मंडियों को खुले रखने की यह घोषणा केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय के गेहूं के निर्यात पर रोक लगाने के हालिया फैसले के प्रभावों की सावधानीपूर्वक जांच करने के बाद की गई है.

मंडियों के कामकाज पर टिप्पणी करते हुए कटारुचक्क ने कहा कि राज्य सरकार ने वर्तमान रबी सीजन के दौरान राज्य में 2292 मंडियों का संचालन किया है, लेकिन राज्य के कुछ हिस्सों में गेहूं की आवक में भारी गिरावट के बाद अब तक 2060 मंडियों में हाल के दिनों में सावधानीपूर्वक नियोजित चरणबद्ध तरीके से बंद किया गया है. उन्होंने कहा वर्तमान में 232 मंडियां चालू हैं, जो राज्य के सभी जिलों को कवर करती हैं.

गेहूं की कीमतों में गिरावट का अंदेशा
खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री लाल चंद कटारुचक्क ने कहा कि गेहूं के निर्यात पर रोक से घरेलू बाजार में गेहूं की कीमतों में गिरावट की संभावना है. नतीजतन, कुछ किसान जिन्होंने बाद में अधिक कीमत मिलने की उम्मीद में गेहूं की उपज का भंडारण किया था, वे अब पुनर्विचार कर सकते हैं और गेहूं बेचने का विकल्प चुन सकते हैं.

पढ़ें-  पंजाब: MSP के ऐलान के बाद किसानों ने करीब लाख एकड़ में बीज दी मूंग की दाल

 17 मई को थी मंडियां बंद करने की तैयारी
मंत्री ने कहा कि हालांकि खरीद बंद करने की अधिसूचित तिथि 31 मई थी, लेकिन हाल के दिनों में गेहूं की आवक की गति मंडियों का ना के बराबर देखते हुए केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय से 12 मई को अनुरोध किया गया था कि 17 मई से मंडियों को समय से पहले बंद करने की अनुमति दी जाए. राज्य सरकार ने अब औपचारिक रूप से इस अनुरोध को वापस ले लिया है. उन्होंने कहा कि किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए ये 232 मंडियां 31 मई तक सभी जिलों में चालू रहेंगी.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर