लोकसभा स्पीकर की दौड़ में मेनका गांधी, इन नामों की भी है चर्चा

आठ बार सांसद बन चुकी मेनका गांधी बीजेपी की सबसे अनुभवी लोकसभा सदस्य हैं और वह अध्यक्ष पद के लिए एक स्वाभाविक विकल्प हैं.

News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 10:29 PM IST
लोकसभा स्पीकर की दौड़ में मेनका गांधी, इन नामों की भी है चर्चा
लोकसभा स्पीकर की दौड़ में मेनका गांधी, इन नामों की भी है चर्चा
News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 10:29 PM IST
लोकसभा अध्यक्ष किसे बनाया जाए बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व इस पर मंथन कर रहा है. पूर्व केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी, राधामोहन सिंह और वीरेन्द्र कुमार सहित पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं को इस पद की दौड़ में शामिल माना जा रहा है. सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी. सूत्रों के मुताबिक में पूर्व केन्द्रीय मंत्री जुएल ओराम और एस.एस. अहलुवालिया भी इस दौड़ में शामिल हैं.

आठ बार सांसद बन चुकी मेनका गांधी बीजेपी की सबसे अनुभवी लोकसभा सदस्य हैं और वह अध्यक्ष पद के लिए एक स्वाभाविक विकल्प हैं. ऐसी भी चर्चा है कि 17वीं लोकसभा में सबसे अनुभवी सांसद होने के कारण उन्हें कार्यवाहक अध्यक्ष चुना जा सकता है.

राधामोहन सिंह भी छह बार सांसद का चुनाव जीत चुके हैं और उन्हें भी अध्यक्ष पद के लिए एक मजबूत दावेदार माना जा रहा है. सिंह की संगठन पर गहरी पकड़ है और उनकी छवि विनम्र एवं सबको साथ लेकर चलने वाले नेता की है.

सूत्रों ने कहा कि वीरेन्द्र कुमार भी छह बार से सांसद हैं और उनकी दलित छवि उनके पक्ष में काम कर सकती है. अहलुवालिया पिछली सरकार में संसदीय कार्य राज्य मंत्री थे और विधायी मामलों में उनकी जानकारी के कारण वह विख्यात हैं.

ये भी पढ़ें: मेनका गांधी बन सकती हैं प्रोटेम स्पीकर, एसएस अहलूवालिया भी वरिष्ठतम सांसदों में शामिल

बीजेपी नेताओं के एक वर्ग का मानना है कि पार्टी नेतृत्च दक्षिण भारत से किसी नेता का चयन कर सबको हैरत में डाल सकता है. सूत्रों ने बताया कि लोकसभा उपाध्यक्ष का पद इस बार बीजू जनता दल (बीजेडी) को दिया जा सकता है और कटक से सांसद भृर्तुहरि महताब का नाम इस पद के लिए विचार किया जा रहा है. महताब को 2017 में सर्वोत्तम सांसद के पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.

16वीं लोकसभा में उपाध्यक्ष पद पर अन्नाद्रमुक के एम थम्बी दुरै को आसीन किया गया था.
Loading...

बता दें कि 17वीं लोकसभा की पहली बैठक 17 जून को होगी. अध्यक्ष पद के लिए 19 जून को चुनाव होगा. निचले सदन में बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए पास तो तिहाई बहुमत है, इसलिए अध्यक्ष पद एनडीए को मिलना तय है.

ये भी पढ़ें: मंत्रालय का जिम्मा लेने से पहले मेनका गांधी से मिलीं स्मृति ईरानी, कही ये बात...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 3, 2019, 10:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...