vidhan sabha election 2017

प्रधानमंत्री को ‘‘नीच आदमी’’ बताने के कारण मणिशंकर अय्यर कांग्रेस से निलंबित


Updated: December 8, 2017, 6:54 AM IST
प्रधानमंत्री को ‘‘नीच आदमी’’ बताने के कारण मणिशंकर अय्यर कांग्रेस से निलंबित
कांग्रेस ने अय्यर को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबत कर दिया.

Updated: December 8, 2017, 6:54 AM IST
कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘‘नीच आदमी’’ बताकर और उनमें कोई ‘‘सभ्यता नहीं’’ होने का आरोप लगाकर एक नया राजनीतिक विवाद पैदा कर दिया जिसे मोदी ने गुजरात का अपमान तथा ‘‘मुगल मानसिकता’’ का प्रतीक बताकर पलटवार किया.
कांग्रेस ने इस बयान के कारण अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी किया और उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबत कर दिया.

गुजरात विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण के प्रचार के अंतिम दिन अय्यर की इस टिप्पणी से राजनीतिक पारा गरमाने के बीच कांग्रेस ने अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी किया और उनकी प्राथमिक सदस्यता को निलंबत कर दिया.

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा , ‘‘यही है कांग्रेस का गांधीवादी नेतृत्व और विरोधी के प्रति सम्मान की भावना’’ उन्होंने कहा कि क्या प्रधानमंत्री भी यह साहस दिखायेंगे.

इससे पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के कड़े रूख के बाद मणिशंकर अय्यर ने अपने हिन्दी भाषी न होने की ओर ध्यान दिलाते हुए इस शब्द के प्रयोग के लिए माफी मांग ली.

कांग्रेस ने अपनी ही पार्टी के एक वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ की गई अभद्र टिप्पणी को सिरे से खारिज करते हुए आज कहा कि इसके लिए अय्यर को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए. पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि वह अय्यर के इस ‘‘लहजे और भाषा’’ को पसंद नहीं करते.

अय्यर ने प्रधानमंत्री मोदी के संविधान निर्माता डा. बी आर अंबेडकर के बारे में एक बयान पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा, ‘‘ये बहुत नीच किस्म का आदमी है. इसमें कोई सभ्यता नहीं है और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है?’’

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल ने अय्यर की टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि वह एवं कांग्रेस, दोनों उम्मीद करते हैं कि अय्यर इस टिप्पणी के लिए माफी मांगेंगे.

राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘भाजपा एवं प्रधानमंत्री कांग्रेस पार्टी पर हमला करने के लिए नियमित तौर पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हैं. कांग्रेस की अलग संस्कृति और विरासत है.प्रधानमंत्री को संबोधित करने के लिए श्री मणिशंकर अय्यर द्वारा इस्तेमाल किये गये लहजे और भाषा को मैं पसंद नहीं करता हूं. कांग्रेस और मैं, दोनों उनसे यह उम्मीद करते हैं कि उन्होंने जो कुछ कहा, उसके लिए वह माफी मांगेंगे.’’

अय्यर ने कहा कि उन्होंने जो कहा वह अंग्रेजी शब्द ‘लो (निम्न)’ का हिंदी अनुवाद है जो उनकी भाषा नहीं है. किंतु प्रधानमंत्री ने जिस तरह से इस शब्द का गलत अर्थ ‘‘नीची जाति’’ के रूप में निकाला तो इसके लिए वह माफी मांगते हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे बताया गया कि ‘नीच’ के हिन्दी में कई अर्थ और कई मायने हैं और यदि श्री मोदी इसे विकृत कर यह दावा करे कि इसका अर्थ नीची जाति में पैदा होना है तो मैं सिर्फ यही कर सकता हूं कि मैं ऐसे शब्द के प्रयोग के लिए माफी मांगता हूं जिसका अर्थ नीची जाति के रूप में किया जा सकता है. किन्तु मेरी ऐसी मंशा बिल्कुल भी नहीं थी और निश्चित तौर पर यह संस्कृति का अंग नहीं है.’’

अय्यर ने कहा, ‘‘लिहाजा इस शब्द के गलत अर्थ निकाले जाने के लिए मैं माफी मांगता हूं विशेषकर चूंकि इससे गुजरात में कांग्रेस पार्टी के हितों को नुकसान पहुंचेगा.’’

उन्होंने कहा कि हिन्दी उनकी भाषा नहीं है तथा अंग्रेजी शब्द ‘लो’ के अनुवाद में गलती हो सकती है. ‘‘मेरी मंशा उनके परिवार के बारे में बात करने की नहीं थी.’’

साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी ने विगत में उनके शब्दों को गलत ढंग से पेश किया. उन्होंने यह दावा किया कि 2014 चुनाव से पहले उन्होंने कभी ‘चायवाला’ शब्द का इस्तेमाल नहीं किया था.

 

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर