vidhan sabha election 2017

मोदी ही नहीं, अटल को भी 'नालायक' कह चुके हैं अय्यर

Sanjeev Mathur | News18Hindi
Updated: December 8, 2017, 11:03 AM IST
मोदी ही नहीं, अटल को भी 'नालायक' कह चुके हैं अय्यर
मणिशंकर अय्यर का विवादों से रहा है पुरान नाता
Sanjeev Mathur | News18Hindi
Updated: December 8, 2017, 11:03 AM IST
पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से निलंबित किए गए वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर का नाम भारतीय राजनीति में कोई अंजाना नाम नहीं. गुजरात विधानसभा चुनावों के पहले चरण के मतदान से एक दिन पहले प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कहकर अय्यर फिर से राजनीतिक गलियारों से लेकर आम लोगों की चर्चा के केंद्र में हैं.

अय्यर ने कोई पहली बार विवादित बोल नहीं बोले हैं. वह पहले भी ऐसे बोल बोल चुके हैं. पहले भी वह अपने इन विवादास्पद बोलों के लिए माफी मांग चुके हैं. लेकिन अय्यर के विवादित बोल पहले भी कांग्रेस और गांधी परिवार के लिए सिरदर्द बनते रहे हैं. अय्यर पहले भी भाजपा के शीर्ष नेताओं पर निजी हमले करते रहे हैं, जिससे उनकी पार्टी को कई बार शर्मिंदगी का भी सामना करना पड़ा.

अय्यर की इस जुबानी फिसलन का भाजपा और नरेंद्र मोदी ने पूरा फायदा उठाया है. पीएम मोदी ने गुजरात में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए अय्यर की टिप्पणी के सहारे कांग्रेस की निंदा की और खुद को उनकी ‘‘जनविरोधी मानसिकता’’ का ‘‘पीड़ित’’ बताया.

मणिशंकर के विवादित बोल और फायदा मोदी को

राजनीतिक जानकारों का मानना है कि 2014 लोकसभा चुनावों के दौरान मोदी पर अय्यर की ‘चाय वाला’ संबंधी टिप्पणी से भाजपा के प्रधानमंत्री पद के तत्कालीन उम्मीदवार मोदी को मदद मिली और उन्होंने अपनी सामान्य पृष्ठभूमि का जिक्र करते हुए अपने प्रचार में इसका कई बार जिक्र किया और कांग्रेस पर निशाना साधा.

दरअसल अय्यर ने दावा किया था कि मोदी कभी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते और वह उस समय जारी कांग्रेस सम्मेलन में चाय ही बेच सकते हैं.

इसी तरह मणिशंकर ने नवंबर 2012 में गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री मोदी की आलोचना करते हुए उन्हें ‘लहू पुरुष’ कहकर पुकारा था. अय्यर ने यह बयान तब दिया था जब गुजरात विधानसभा चुनावों की तारीखें नजदीक थी. अय्यर ने कहा था कि मोदी खुद को विकास पुरुष कहते हैं, लेकिन असलियत में वे लहू पुरुष हैं.

अय्यर ने कहा था कि नरेंद्र मोदी ने अपनी छव‍ि बनाने के लिए गुजरात के लोगों की खून-पसीने की कमाई अमेरिकी कंपनी को दी. उन्होंने मोदी की तुलना रावण से करते हुए कहा कि मोदी की बुद्धि माफिया डॉन दाऊद इब्राहिम जैसी बताई थी. वह मोदी को झूठा भी कह चुके हैं.

उन्होंने तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी के उस बयान की भी तीखी आलोचना की थी, जिसमें उन्होंने स्वामी विवेकानंद की तुलना अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहीम से की थी. अय्यर ने इस पर कहा था कि, 'उन्हें दाऊद की तुलना मोदी से करनी चाहिए थी, क्योंकि दोनों की बुद्धि एक जैसी है.'

अय्यर ने गुजरात के पोरबंदर में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा था , 'यह मुंह खोले तो झूठ निकले. यह किसके बारे में झूठ बोलता है?... यह आपके बारे में झूठ बोलता है. यूएस की कंपनी को 25 हजार डॉलर प्रतिदिन के हिसाब से दिए गए... गुजरात में केवल आधा विकास हुआ है.'

मार्च 2013 को दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में मोदी ने कांग्रेस पार्टी को 'दीमक' बुलाया तो मणिशंकरने कहा, "मोदी ने हमें दीमक बुलाया है, तो मैं तो कहता हूं कि वो एक सांप हैं, बिच्छू हैं. ऐसे गंदे आदमी की तरफ से आलोचना हुई तो ये हमारी तारीफ है."

 



अय्यर इससे पहले वर्ष 2008 में अय्यर मोदी की तुलना हिटलर से कर चुके हैं. उन्होंने उस समय कहा था कि 2002 के दंगों के दौरान अल्पसंख्यकों पर जुल्म ढ़हाने के लिए बेरोजगार गरीबों को आगे कर दिया गया.

उनकी टिप्पणी पर बवाल मचने पर कांग्रेस नेता को माफी मांगने पर मजबूर होना पड़ा था. उस समय भी अय्यर ने यह कहकर ही बचाव किया था और कहा था कि वह हिन्दी के शब्दों का आशय नहीं समझते हैं.

अटल बिहारी वाजपेयी को नालायक कह चुके हैं



अंग्रेजी के अच्छे वक्ता और लेखक अय्यर ने 1998 में तत्कालीन प्रधानमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अटल बिहारी वाजपेयी को ‘नालायक’ भी कहकर विवादों के केंद्र में आ चुके हैं.
हाफिज सईद को ‘‘हाफिज साहब’’ कह कर पुकारा था

अय्यर एक बार प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा के संस्थापक हाफिज सईद को ‘‘हाफिज साहब’’ कह चुके हैं. उन्होंने पाकिस्तानी टीवी चैनल पर साक्षात्कार के दौरान सुझाव दिया था कि भारत और पाकिस्तान के बीच शांति केवल तब संभव है जब मोदी सरकार गिर जाए. उन्होंने पाकिस्तान से भाजपा सरकार को गिराने में मदद को कहा.



गांधी परिवार भी अछूता नहीं रहा है 

अय्यर 2011 में अपनी पार्टी के ही नेता अजय माकन को भी निशाना बना चुके हैं. यही नहीं हाल में कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव पर उन्होंने बेहद कड़वे बोल बोले थे.मणिशंकर अय्यर ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर जोरदार हमला किया था.

मणिशंकर अय्यर ने कहा था कि पार्टी में मां-बेटे के रहते हुए किसी का भला नहीं हो सकता है. हिमाचल प्रदेश के कसौली में पूर्व पेट्रोलियम मंत्री ने कहा था कि , 'कांग्रेस अध्यक्ष या तो मां बनेगी या फिर बेटा. जब कोई प्रत्याशी है ही नहीं तो अध्यक्ष बनने के लिए चुनाव कैसे होंगे.'

अय्यर ने कहा, 'पार्टी में बेशक मुझे अनदेखा किया जा रहा है, लेकिन मैं जन्मजात कांग्रेसी हूं और रहूंगा. तमिलनाडु से कांग्रेस का सदस्य बना हूं और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी का चुनाव लडूंगा. हार-जीत की परवाह नहीं, लेकिन मुकाबला अवश्य करेंगे.'
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर