Home /News /nation /

manipur landslide army says 5 civilians 13 soldiers rescued 8 dead

मणिपुर लैंडस्लाइड: अबतक 5 नागरिकों और 13 सैनिकों को बचाया गया, 8 की मौत, 70 से अधिक लापता

मणिपुर लैंडस्लाइड में अबतक 8 लोगों की जान जा चुकी है.

मणिपुर लैंडस्लाइड में अबतक 8 लोगों की जान जा चुकी है.

Manipur Landslide: सेना के बयान में कहा गया है, "अबतक प्रादेशिक सेना के 13 सैनिकों एवं पांच आम नागरिकों को बचाया गया है, जबकि सात सैनिकों एवं एक आम नागरिक के शव बरामद किये गये हैं."

नई दिल्ली. सेना ने बृहस्पतिवार को कहा कि मणिपुर के नोनी जिले में भूस्खलन प्रभावित रेलवे निर्माण स्थल पर अबतक प्रादेशिक सेना के 13 सैनिकों एवं पांच आम नागरिकों को बचाया गया है. नोनी जिले में एक रेलवे निर्माण स्थल पर बुधवार को विनाशकारी भूस्खलन होने से कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई और 70 से अधिक अन्य लोग लापता हो गए हैं. एक बयान में सेना ने कहा कि असम राइफल्स और प्रादेशिक सेना के जवानों ने खराब मौसम के बावजूद टुपुल रेलवे स्टेशन के आम क्षेत्र में दिनभर बचाव अभियान चलाया.

उसने एक बयान में कहा, “नागरिक प्रशासन ने इजेई नदी के निचले हिस्से में रह रहे लोगों को एहतियात बरतने तथा भूस्खलन के कारण नदी पर बने बांध के टूट जाने की आशंका से वहां से चले जाने की हिदायत दी है.” उसने कहा कि रात में तलाशी अभियान जारी रहेगा. उस जगह पहुंचने एवं बचाव प्रयासों में मदद करने के लिए बुलडोजर समेत इंजीनियिरिंग उपकरण लगाये गये हैं.

बयान में कहा गया है, “भारतीय रेलवे, नागरिक प्रशासन, एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा मोचन बल), एसडीआरएफ (राज्य आपदा मोचन बल ) के दल तथा नोनी जिले के स्थानीय लोग तलाशी अभियान में बढ़चढ़कर भाग ले रहे हैं.” उसमें कहा गया है, “अबतक प्रादेशिक सेना के 13 सैनिकों एवं पांच आम नागरिकों को बचाया गया है, जबकि सात सैनिकों एवं एक आम नागरिक के शव बरामद किये गये हैं.”

एनडीआरएफ ने कहा, दो और टीमें बचाव कार्य के लिए भेजी जा रही हैं
इस बीच, एनडीआरएफ ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह मणिपुर के नोनी जिले में बचाव कार्य के लिए अपनी दो टीमों को भेज रहा है जहां पर भूस्खलन से अब तक आठ लोगों की जान जा चुकी है, वहीं अब भी कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है. उन्होंने बताया कि यह हादसा तुपुल यार्ड रेलवे निर्माण शिविर में बुधवार की रात हुआ. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के प्रवक्ता ने बताया, “बल की टीम के मौके पर पहुंचने से पहले ही विभिन्न एजेंसियों द्वारा आठ शवों को निकाला जा चुका था, जबकि 18 बचाए गए लोगों को इलाज के लिए अस्पताल स्थानांतरित किया गया था.”

एक खोजी कुत्ता भी बचाव कार्य में लगाया गया
प्रवक्ता ने बताया कि एनडीआरएफ की एक टीम तत्काल इंफाल के आधार शिविर से घटना स्थल पर पहुंची, जबकि दो और टीम (एक नगालैंड के कोहिमा से और दूसरी असम के सिलचर से) ‘घटना स्थल पर भेजी गई हैं और रास्ते में हैं.’ बल ने एक खोजी कुत्ते को भी बचाव कार्य में लगाया है. एनडीआरएफ द्वारा साझा किए गए वीडियो में दिखाई दे रहा है कि यह खोजी कुत्ता गीली मिट्टी को खोदकर संभावित जिंदा लोगों की तलाश कर रहा है. स्थानीय प्रशासन और अन्य बचाव एजेंसियां भारी अर्थमूवर (मिट्टी हटाने की मशीन) का इस्तेमाल कर रही हैं ताकि बचाव कार्य में तेजी लाई जा सके.

Tags: Indian army, Manipur

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर