ब्लैक फंगस के इलाज में मिलेगी मदद, मैनकाइंड फार्मा ने लॉन्च की दवा

देश में अब तक ब्लैक फंगस के 29 हजार मामले देखे गए हैं.

देश में अब तक ब्लैक फंगस के 29 हजार मामले देखे गए हैं.

कंपनी ने इस दवा (Medicine) को पोसाफोर्स 100 ब्रांड नाम से बाजार में उतारा है. देश में अब तक ब्लैक फंगस (Black Fungus) के 29 हजार मामले देखे गए हैं, जिनमें सबसे अधिक मामले गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश और तेलंगाना में हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. मैनकाइंड फार्मा ने गुरुवार को कहा कि उसने देश में ब्लैक फंगस (Black Fungus) के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवा पोसाकोनाजोल गैस्ट्रो प्रतिरोधी टैबलेट की पेशकश की है. कंपनी ने इस दवा (Medicine) को पोसाफोर्स 100 ब्रांड नाम से बाजार में उतारा है. देश में अब तक ब्लैक फंगस के 29 हजार मामले देखे गए हैं, जिनमें सबसे अधिक मामले गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश और तेलंगाना में हैं.

मैनकाइंड फार्मा ने बताया, चूंकि ब्लैक फंगस के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है, इसलिए इस संक्रमण से लड़ने के लिए दवा की पेशकश की गई है. दवा कंपनी हमेशा फार्मास्युटिकल उद्योग में सर्वोत्तम गुणवत्ता मानकों के साथ सस्ती दवाएं पेश करने की कोशिश करती है.

Youtube Video

इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्र में ब्लैक फंगस से मरने वालों संख्या हुई 421, अब तक 3,914 मामले आए सामने
बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के घटते मामलों के बीत अब ब्लैक फंगस के बढ़ते मामले डरा रहे हैं. मंगलवार को जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार राज्य में अब तक 421 लोगों की मौत ब्लैक फंगस से हो चुकी है. वहीं अब तक 3,914 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं केंद्र सरकार ने राज्यों सरकारों से कहा है कि ब्लैक फंगस के इलाज में 'कम उम्र मरीजों' को विशेष प्राथमिकता दी जाए. न्यूज़18 के पास इस दिशानिर्देश की एक कॉपी मौजूद है. नेशनल कोविड टास्क फोर्स द्वारा भेजे गए दिशानिर्देश में इस बाबत ताकीद की गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज