Mann Ki Baat: पीएम मोदी बोले- चंद्रयान-2 से मुझे विश्वास और निर्भीक होने की सीख मिली

पीएम मोदी ने कहा, 'अगर आप मुझसे पूछेंगे कि चंद्रयान-2 से मुझे कौन सी दो बड़ी सीख मिली तो मैं कहूंगा ये दो सीख हैं विश्वास और निर्भीकता. हमें अपनी प्रतिभा और क्षमता पर भरोसा होना चाहिए.'

News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 5:46 PM IST
Mann Ki Baat: पीएम मोदी बोले- चंद्रयान-2 से मुझे विश्वास और निर्भीक होने की सीख मिली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 'मन की बात' कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित किया.
News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 5:46 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 'मन की बात' कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित किया. पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम में कई विषयों पर बात की. इस दौरान उन्होंने हाल ही में इसरो द्वारा लॉन्च किए गए चंद्रयान-2 का भी जिक्र किया. पीएम मोदी ने कहा कि 22 जुलाई को पूरे देश ने गर्व के साथ देखा कि कैसे चंद्रयान-2 ने श्रीहरिकोटा से अंतरिक्ष की ओर अपने कदम बढ़ाए. चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण की तस्वीरों ने देशवासियों को गौरव, जोश और प्रसन्नता से भर दिया.

पीएम मोदी ने कहा कि मिशन चंद्रयान-2 कई मायनों में विशेष है. चंद्रयान-2 चांद के बारे में हमारी समझ को और भी स्पष्ट करेगा. इससे हमें चांद के बारे में ज्यादा विस्तार से जानकारियां मिल सकेंगी, लेकिन अगर आप मुझसे पूछेंगे कि चंद्रयान-2 से मुझे कौन सी दो बड़ी सीख मिली तो मैं कहूंगा ये दो सीख हैं विश्वास और निर्भीकता. हमें अपनी प्रतिभा और क्षमता पर भरोसा होना चाहिए.



भारतीय रंग में ढला है चंद्रयान-2

पीएम मोदी ने आगे कहा, 'आपको ये जानकर खुशी होगी कि चंद्रयान-2 पूरी तरह से भारतीय रंग में ढला है. यह हार्ट और स्प्रिट से भारतीय है. पूरी तरह से एक स्वदेशी मिशन है. इस मिशन ने फिर एक बार साबित कर दिया कि जब बात नए-नए क्षेत्रों में कुछ नया कर गुजरने की हो, इनोवेटिव जील की हो तो हमारे वैज्ञानिक सर्वश्रेष्ठ हैं, विश्वस्तरीय हैं.'

पूरी दुनिया ने देखी वैज्ञानिकों की तपस्या

प्रधानमंत्री मोदी ने रिकॉर्ड समय में तकनीकी गड़बड़ी ठीक करके चंद्रयान-2 लॉन्च करने के लिए वैज्ञानिकों की तारीफ की. उन्होंने कहा कि वैज्ञानिकों की इस महान तपस्या को पूरी दुनिया ने देखा. इस पर हम सभी को गर्व होना चाहिए और व्यवधान के बावजूद भी पहुंचने का समय उन्होंने बदला नहीं इस बात का भी बहुतों का आश्चर्य है.
Loading...



चंद्रयान-2 से सीखिए मुश्किलों से लड़ना

प्रधानमंत्री मोदी ने चंद्रयान-2 के जरिए जीवन में आने वाली मुश्किलों से लड़ने की सीख दी. उन्होंने कहा कि हमें अपने जीवन में अस्थाई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, लेकिन हमेशा याद रखिए कि इससे पार पाने का सामर्थ्य भी हमारे भीतर ही होता है. मुझे पूरी उम्मीद है कि चंद्रयान-2 अभियान से हमारे युवा साइंस और इनोवेशन की ओर प्रेरित होंगे. आखिरकार विज्ञान ही तो विकास का मार्ग है.



युवाओं को क्विज कम्पटीशन के लिए किया आमंत्रित

प्रधानमंत्री मोदी ने देश के युवाओं को एक क्विज कम्पटीसन के लिए भी आमंत्रित किया. इसमें अंतरिक्ष से जुड़े सवाल पूछे जाएंगे. इस प्रतियोगिता की डिटेल 1 अगस्त को MyGov website पर दी जाएगी. हर राज्य से सबसे ज्यादा स्कोर करने वाले विद्यार्थियों को सरकार अपने खर्चे पर श्रीहरिकोटा ले जाएगी और सितंबर में जब चंद्रयान-2 चांद की सतह पर लैंड करेगा, तो वे उस पल के साक्षी बन सकेंगे.

ये भी पढ़ें: बढ़ती जा रही चंद्रयान की स्पीड, एक सेकेंड के ईंधन में जा रहा है 500 किलोमीटर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 28, 2019, 12:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...