• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • चौथी बार गोवा के सीएम बने पर्रिकर, दो दिन में साबित करना होगा बहुमत

चौथी बार गोवा के सीएम बने पर्रिकर, दो दिन में साबित करना होगा बहुमत

मनोहर पार्रिकर ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ

मनोहर पार्रिकर ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ

पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. उन्हें 16 मार्च को सुबह 11 बजे विधानसभा में बहुमत साबित करना होगा.

  • Share this:
    भाजपा नेता मनोहर पर्रिकर ने मंगलवार को गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. इसी के साथ पर्रिकर चौथी बार गोवा के सीएम बन गए. राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने राजभवन में आयोजित एक समारोह में उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.

    पर्रिकर ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्रियों वेंकैया नायडू, नितिन गडकरी, जे.पी. नड्डा सहित शीर्ष पार्टी नेताओं और अन्य गणमान्यों की उपस्थिति में शपथ ली.

    पर्रिकर के साथ ही नौ मंत्रियों को भी शपथ दिलाई गई. इनमें महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के सुदिन धवलीकर और मनोहर अजगांवकर तथा गोवा फॉरवर्ड के विजय सरदेसाई, विनोद पलिनकर व जयेश सालगांवकर और भाजपा के फ्रांसिस डिसूजा, पांडुरंग मडकैकर तथा निर्दलीय गोविंद गावडे व रोहन खाउंटे शामिल हैं.



    पर्रिकर को 16 मार्च को सुबह 11 बजे विधानसभा में बहुमत साबित करना होगा.  विधानसभा चुनाव में 40 में से 13 सीट जीतने के बावजूद छोटी पार्टियों के समर्थन से बीजेपी गोवा में सरकार बना रही है. बीजेपी को महाराष्‍ट्रवादी गोमांतक पार्टी और गोवा फॉरवर्ड पार्टी के साथ ही निर्दलीयों का भी समर्थन मिला है.

    हालांकि, कांग्रेस को 17 सीटें मिली थी, लेकिन सरकार बनाने के लिए राज्‍यपाल के बुलावे का इंतजार करना उसे भारी पड़ गया और बीजेपी ने समर्थन जुटाकर राज्यपाल के सामने सरकार का दावा ठोक दिया.

    इससे पहले सुप्रीम कोर्ट से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा. सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस की पर्रिकर के शपथ ग्रहण पर रोक लगाने अपील खारिज कर दी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर आपने अन्य विधायकों के समर्थन के हलफ़नामे के साथ राज्यपाल को संख्याबल दिखाया होता तब आपका मामला बनता.

    सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अभी तक आपने बीजेपी के दावे और संख्याबल को नहीं नकारा. अगर राज्यपाल ने आपको सरकार बनाने के लिए नहीं बुलाया था तो आप राज्यपाल निवास के बाहर धरना दे सकते थे और कह सकते थे कि हमारे पास संख्याबल है. आप संख्याबल का दावा कर दूसरे पक्ष को ध्वस्त कर सकते थे लेकिन आपने बीजेपी के दावे को नहीं नकारा. सबसे बड़े दल को सरकार बनाने के लिए बुलाना संख्याबल का विषय है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज