बंगाल में राजनीतिक हिंसा के बीच कई फर्जी मैसेज, वीडियो और तस्वीरें वायरल, कोलकाता पुलिस ने किया Fact Check

कोलकाता पुलिस ने किया फैक्टचेक

कोलकाता पुलिस ने किया फैक्टचेक

West Bengal Election: पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद कई इलाकों में राजनीतिक हिंसा का दौर शुरू हो गया. ऐसे में सोशल मीडिया पर कई मैसेज वायरल हो रहे हैं.

  • Share this:

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal Election) के परिणाम आने के बाद कई इलाकों में राजनीतिक हिंसा (Political Violence) का दौर शुरू हो गया. इस बीच सोशल मीडिया पर कई फर्जी मैसेज, वीडियो और तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिनके चलते पूरे देश में बंगाल में मौजूदा हालात को लेकर, अलग-अलग किस्म की आशंकाएं जताई जा रही हैं. कोलकाता पुलिस ने कुछ ऐसे ही वायरल संदेशों का फैक्टचेक किया है.

कोलकाता पुलिस ने ऐसे ही एक ट्वीट का फैक्टचेक किया है. प्रीति गांधी नाम की यूजर द्वारा ट्वीट किये गये वीडियो को पुलिस ने फेक बताया है. इस वीडियो में लोगों का हूजूम तलवार और अन्य संदिग्ध हथियार के साथ सड़क पर डांस कर रहा है. वीडियो के बैकग्राउंड में विधानसभा चुनाव प्रचार में टीएमसी का नारा खेला होबे बज रहा है. इस वीडियो पर पुलिस ने कहा कि यह एडिटेड वीडियो है.  कोलकाता पुलिस ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि एक  डॉक्टर्ड वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है, जिसे पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद का बताया जा रहा है. इस बाबत कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी गई है.

Youtube Video
क्या बंगाल में गैंगरेप हुआ?वहीं टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने भी कुछ खबरों के जरिए फर्जी मैसेज और वीडियो वायरल होने का दावा किया है. मोइत्रा ने एक ट्वीट में कहा कि एक ओर हम कोविड प्रबंधन में व्यस्त हैं . हम भाजपा की  फेक न्यूज मशीन का जवाब देकर समय खराब नहीं करना चाहते लेकिन यहां कुछ फैक्ट चेक हैं.'इसके साथ ही पश्चिम बंगाल पुलिस ने गैंगरेप के खबरों का दावा करने वाले एक ट्वीट को भी फर्जी बताया है. इस ट्वीट में भारतीय जनता पार्टी की बंगाल इकाई के हवाले से कहा गया था कि बीजेपी की दो महिला पोल एजेंट्स के साथ गैंगेरेप किया गया और कई महिलाओं के साथ बीरभूम में छेड़छाड़ हुई. बंगाल पुलिस ने इस दावे को भी फर्जी बताया.

गौरतलब है कि भाजपा ने दावा किया है कि कथित राजनीतिक हिंसा में उसके 14 कार्यकर्ता मारे गए हैं. इसके साथ ही सीपीआईएम और अन्य राजनीतिक दलों ने दावा किया है कि टीएमसी के लोगों ने उनके कार्यकर्ताओं के साथ मार पीट की है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज