अपना शहर चुनें

States

छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती पर PM मोदी सहित कई नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की.
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi)ने ट्वीट कर कहा, मां भारती के अमर सपूत छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) के अदम्य साहस, अद्भुत शौर्य और असाधारण बुद्धिमत्ता की गाथा देशवासियों को युगों-युगों तक प्रेरित करती रहेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2021, 11:05 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने शुक्रवार को छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनका साहस, शौर्य और बुद्धिमत्ता देशवासियों को प्रेरित करते रहेंगे. प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा, मां भारती के अमर सपूत छत्रपति शिवाजी महाराज को उनकी जयंती पर शत-शत नमन. उनके अदम्य साहस, अद्भुत शौर्य और असाधारण बुद्धिमत्ता की गाथा देशवासियों को युगों-युगों तक प्रेरित करती रहेगी. जय शिवाजी!

गृह मंत्री अमित शाह ने भी छत्रपति शिवाजी महाराज को नमन किया है. उन्होंने कहा है, 'राष्ट्रीयता के जीवंत प्रतीक छत्रपति शिवाजी महाराज ने अपनी अद्वितीय बुद्धिमता, अद्भुत साहस व उत्कृष्ट प्रशासनिक कौशल से सुशासन की स्थापना की. अपनी दूरदर्शिता से उन्होंने एक मजबूत नौसेना बनाई व कई जन-कल्याणकारी नीतियों की भी शुरुआत की. ऐसे राष्ट्रगौरव को कोटि-कोटि वंदन.

Prime Minister Narendra Modi, Chhatrapati Shivaji Maharaj, Amit Shah, Rajnath Singh



रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी छत्रपति शिवाजी महाराज को नमन करते हुए कहा छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती के अवसर मैं उन्हें स्मरण एवं नमन करता हूं. वे एक महान योद्धा, प्रतापी सेनानायक, कुशल प्रशासक एवं प्रजापालक शासक थे. शिवाजी महाराज ने हमेशा जनहित, राजहित और राष्ट्रहित में काम किया. उनका सारा जीवन हर भारतवासी के लिए गौरव और प्रेरणा का स्रोत है.



इसे भी पढ़ें :- शिवाजी महाराज की वो बातें, जिसकी बदौलत वो महान होकर छत्रपति कहलाए

उल्लेखनीय है कि मराठा सामाज्य के संस्थापक छत्रपति शिवाजी का जन्म 19 फरवरी 1630 को पुणे के निकट स्थित शिवनेरी दुर्ग में हुआ था. उनकी गिनती देश के महान शासकों में होती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज