Assembly Banner 2021

CWC Meet: कांग्रेस की कमान संभालने को तैयार नहीं राहुल गांधी, मनमोहन सिंह को 'अंतरिम' अध्यक्ष बनाए जाने के कयास

पार्टी के कई नेता राहुल को पार्टी की कमान सौंपने के पक्ष में हैं.

पार्टी के कई नेता राहुल को पार्टी की कमान सौंपने के पक्ष में हैं.

पार्टी सूत्रों का कहना है कि सोमवार सुबह वीडियो कांफ्रेस (Video Conference) के माध्यम से होने जा रही सीडब्ल्यूसी की बैठक (CWC Meeting) में वरिष्ठ नेताओं (senior leaders) के पत्र एवं इसमें दिए गए सुझावों का मुद्दा हावी रहने की प्रबल संभावना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 24, 2020, 9:07 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress Interim President Sonia Gandhi) को कई वरिष्ठ नेताओं की ओर लिखे गए पत्र (letter) के बाद नेतृत्व के मुद्दे पर तेज हुई बहस के बीच कांग्रेस कार्य समिति (CWC) के कई सदस्य सोमवार को होने वाली बैठक में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को एक बार फिर से अध्यक्ष बनाने की मांग रखने की तैयारी में हैं. हालांकि राहुल गांधी ने साफ कर दिया है कि अब पार्टी की कमान किसी गैर-गांधी को सौंपी जाए. ऐसे में सूत्रों के अनुसार, सोनिया गांधी के इस्तीफा देने की स्थिति में मनमोहन सिंह या एके एंटनी को पार्टी का अंतरिम अध्यक्ष पद दिया जा सकता है.

कांग्रेस वर्किंग कमिटी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिये होने वाली बैठक आज 11 बजे शुरू होगी. वहीं सूत्रों के हवाले से ख़बर है कि सोनिया गांधी आज बैठक में अंतरिम अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे सकती हैं. सोनिया गांधी के इस्तीफे के पेशकश के साथ ही दो स्थिति बन सकती है. हालांकि CWC सदस्य उन पर अध्यक्ष बनी रहने का दबाव डाल सकते हैं. वहीं अगर सोनिया गांधी नहीं मानीं तो उस सूरत में मनमोहन सिंह, एके एंटनी या फिर मुकुल वासनिक को कार्यकारी अध्यक्ष बनाने पर चर्चा हो सकती है.

इसके साथ ही कुछ नेताओं को यह उम्मीद है कि पार्टी की कमान संभालने के लिए राहुल गांधी के तैयार नहीं होने की स्थिति में भी नेतृत्व एवं संगठन (leadership and organisation) को लेकर आगे की दिशा तय करने के लिए सीडब्ल्यूसी के सदस्यों (CWC Members) के बीच किसी न किसी रोडमैप पर सहमति बन जाएगी.



पार्टी सूत्रों का कहना है कि सोमवार सुबह वीडियो कांफ्रेस (Video Conference) के माध्यम से होने जा रही सीडब्ल्यूसी की बैठक (CWC Meeting) में वरिष्ठ नेताओं के पत्र एवं इसमें दिए गए सुझावों का मुद्दा हावी रहने की प्रबल संभावना है. कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता (senior leader) और सीडब्ल्यूसी के सदस्य ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘यह लगभग तय है कि कल की बैठक नेतृत्व और संगठन पर ही मुख्य रूप से केंद्रित रहने वाली है. मैं अपनी ओर से राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का नाम अध्यक्ष के लिए रखूंगा क्योंकि यही कांग्रेस कार्यकर्ताओं (congress members) की भावना है.’’
'सभी चाहते हैं कि राहुल गांधी अध्यक्ष बनें'
पार्टी के दो धड़ों में बंटे होने के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘ऐसा कुछ नहीं है. सभी चाहते हैं, लेकिन राहुल गांधी अध्यक्ष बनें. लेकिन कुछ लोग ऐसे जरूर हो सकते हैं जिनका मानना है कि अगर राहुल जी तैयार नहीं हैं तो फिर पूर्णकालिक अध्यक्ष के लिए किसी और के नाम पर या चुनाव कराने पर विचार किया जाए.’’

यह पूछे जाने पर कि अगर राहुल गांधी तैयार नहीं होते हैं तो क्या किसी और का नाम भी अध्यक्ष के लिए आ सकता है तो कांग्रेस के एक नेता ने कहा, ‘‘यह सीडब्ल्यूसी और नेहरू-गांधी परिवार को तय करना है. इतना जरूर कह सकता हूं कि सोमवार की बैठक में आगे के लिए रोडमैप पर सहमति बनने की मुझे पूरी उम्मीद है.’’

समय-समय पर उठती रही है राहुल को अध्यक्ष बनाने की मांग
पार्टी के एक युवा नेता और सीडब्ल्यूसी सदस्य ने भी कहा कि बैठक में मौका मिलने पर वह कांग्रेस अध्यक्ष के लिए राहुल गांधी का नाम प्रस्तावित करेंगे. उन्होंने कहा, ‘‘पार्टी के सभी कार्यकर्ता और खासकर युवा यह चाहते हैं कि राहुल गांधी फिर से कांग्रेस की कमान संभालें. यह काम जल्द होना चाहिए.’’

पिछले साल लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया था. समय-समय पर कांग्रेस के कई नेता राहुल गांधी को फिर से अध्यक्ष बनाए जाने की मांग करते रहे हैं.

बैठक से एक दिन पहले कई वरिष्ठ नेताओं ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र
राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं की ओर से सोनिया गांधी को पत्र लिखे जाने की बात सीडब्ल्यूसी की बैठक से एक दिन पहले सामने आई है. सूत्रों के अनुसार, इस पत्र में कांग्रेस संगठन में ऊपर से लेकर नीचे तक बदलाव और ऐसे पूर्णकालिक अध्यक्ष बनाए जाने का सुझाव दिया है जो सक्रिय एवं प्रभावी हों.

जिन नेताओं ने इस पत्र पर हस्ताक्षर किये हैं उनमें राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस के उपनेता आनंद शर्मा, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, पृथ्वीराज चव्हाण, राजिंदर कौर भट्टल , पूर्व मंत्री मुकुल वासनिक, कपिल सिब्बल, एम वीरप्पा मोइली, शशि थरूर, सांसद मनीष तिवारी, पूर्व सांसद मिलिंद देवड़ा, जितिन प्रसाद और संदीप दीक्षित भी शामिल हैं.

यह भी पढ़ें: कोविड19 प्रोटोकॉल पालन करते हुए एक दिन के लिए बुलाया गया केरल विधानसभा सत्र

इस पत्र में पार्टी की इकाइयों के पूर्व प्रमुख राज बब्बर, अरविंदर सिंह लवली, कौल सिंह ठाकुर, अखिलेश प्रसाद सिंह और कुलदीप शर्मा के भी दस्तखत हैं. सोनिया को पत्र लिखने वाले कई नेताओं ने संपर्क किए जाने पर इस मुद्दे पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया. एक नेता ने यह जरूर कहा, ‘‘सोमवार की बैठक में कुछ फैसले की उम्मीद है.' (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज