लाइव टीवी

मकबूल बट्ट की बरसी: कश्‍मीर में निलंबित इंटरनेट सेवा शाम को बहाल

भाषा
Updated: February 11, 2020, 8:55 PM IST
मकबूल बट्ट की बरसी: कश्‍मीर में निलंबित इंटरनेट सेवा शाम को बहाल
मकबूल बट्ट की बरसी को लेकर कश्‍मीर में इंटरनेट सेवा बंद की गई थी.

जम्‍मू कश्‍मीर (Jammu Kashmir) में अलगाववादी संगठनों द्वारा मकबूल बट्ट (Maqbool Bhat) की बरसी को लेकर बंद का आह्वान किया गया था, जिसके चलते हिंसा की आशंका पैदा हो गई थी.

  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के संस्थापक मकबूल बट्ट की 26वीं बरसी के मद्देनजर मंगलवार को कश्मीर घाटी में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए एहतियातन इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी गई. हालांकि, शाम में यह बहाल कर दी गई. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि इंटरनेट सेवा तड़के निलंबित कर दी गई. क्योंकि अलगाववादी संगठनों द्वारा बट्ट की बरसी को लेकर बंद का आह्वान किया गया था, जिसके चलते हिंसा की आशंका पैदा हो गई थी.

घाटी में शाम को इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई
अधिकारियों ने बताया कि घाटी में शाम में इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई. जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को पिछले साल पांच अगस्त को खत्म किए जाने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों 'जम्मू कश्मीर और लद्दाख' में विभाजित करने की केंद्र की घोषणा के करीब पांच महीने बाद 25 जनवरी को 2जी इंटरनेट सेवा बहाल की गई.

अफजल गुरु की बरसर पर भी बंद की गई थी इंटरनेट सेवा

संसद हमले के दोषी मोहम्मद अफजल गुरु की बरसी पर रविवार को भी इंटरनेट सेवा बंद की गई थी क्योंकि अलगाववादी संगठनों ने बंद का आह्वान किया था. पुलिस ने प्रतिबंधित जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के खिलाफ अफजल गुरु की बरसी पर बंद बुलाने के संबंध में शनिवार को प्राथमिकी दर्ज की. बट्ट को 1984 में तिहाड़ जेल में फांसी दी गई थी और उसे वहीं दफना भी दिया गया था.

'कश्‍मीर में जनजीवन प्रभावित'
अधिकारियों ने बताया कि कश्मीर में जनजीवन प्रभावित है. उन्होंने बताया कि बाजार और कारोबारी प्रतिष्ठान बंद हैं और सार्वजनिक वाहन सड़कों से नदारद हैं. अधिकारियों ने बताया कि शहर और घाटी के अन्य संवेदनशील स्थानों पर बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. उन्होंने बताया कि घाटी में किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है.किसी भारतीय नागरिक की जम्मू कश्मीर यात्रा पर कोई पाबंदी नहीं : सरकार
सरकार ने मंगलवार को लोकसभा में कहा कि किसी भारतीय नागरिक के केंद्रशासित प्रदेश जम्मू कश्मीर की यात्रा करने पर कोई पाबंदी नहीं है. भारतीय प्रतिनिधियों को जम्मू कश्मीर जाने की अनुमति देने की समयसीमा के संबंध में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि किसी भारतीय नागरिक की जम्मू कश्मीर यात्रा पर कोई पाबंदी नहीं है.

जम्मू कश्मीर में विदेशी राजदूतों के दौरों के प्रश्न पर मंत्री ने कहा कि केंद्रशासित प्रदेश के हालात को बेहतर तरीके से समझने के लिहाज से दिल्ली में विदेशी मिशनों से प्राप्त अनुरोधों के मद्देनजर 9-10 जनवरी को 15 मिशनों के प्रमुखों की जम्मू कश्मीर की यात्रा कराई गयी थी.

ये भी पढ़ें: अफजल की बरसी: कश्मीर में बंद की गई मोबाइल इंटरनेट सेवाएं फिर शुरू

ये भी पढ़ें: उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती पर क्यों लगा PSA, इस दस्तावेज में हुआ खुलासा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 8:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर