मराठा आरक्षण: 11वीं की छात्रा ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

पुलिस अधिकारी ने बताया कि लड़की ने उम्मीद जताई कि उसका बलिदान मराठा समुदाय को आरक्षण के लिए किए जा रहे आंदोलन को बढ़ावा देगा.

News18Hindi
Updated: September 11, 2018, 4:09 PM IST
मराठा आरक्षण: 11वीं की छात्रा ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
File photo of a protest by the Maratha Kranti Morcha. (AP)
News18Hindi
Updated: September 11, 2018, 4:09 PM IST
(अमन सय्यद)

महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में मराठा आरक्षण को लेकर 16 साल की एक लड़की ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. स्कॉलरशिप नहीं मिलने से हताश ग्यारवी की साइन्स की छात्रा किशोरी काकड़े ने सोमवार को कॉलेज हॉस्टल के रूम में पंखे से लटक कर आत्महत्या कर ली.

दसवी कक्षा में 89 परसेंट से पास अहमदनगर के कापुरवाड़ी गांव की 16 वर्षीय किशोरी काकड़े ने आगे की पढ़ाई के लिए शहर के राधाबाई काले महाविद्यालय में एडमिशन लिया था. किशोरी को डॉक्टर बनना था लेकिन घर की आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण से उसने स्कॉलरशिप के लिए अप्लाई किया लेकिन स्कॉलरशिप नहीं मिली, किशोरी को स्कॉलरशिप ना मिलने से वो डिप्रेशन में चली गई और दोपहर को  हाॅस्टल रूम मे पंखे से लटकर कर आत्महत्या कर ली.

तोपखाना थाने के निरीक्षक विशाल सनास ने मंगलवार को बताया कि राधाबाई काले महिला महाविद्यालय में 11वीं कक्षा की छात्रा किशोरी बब्बन कनाडे ने सोमवार दोपहर अपने छात्रावास के कमरे में पंखे से फांसी लगाकर लगाकर जान दे दी.

उन्होंने बताया कि लड़की कपुरवाडा गांव के एक गरीब किसान परिवार से ताल्लुक रखती है. उसने एक सुसाइड नोट छोड़ा है जिसमें उसने कथित रूप से जिक्र किया है कि वह मराठा समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर बलिदान दे रही है.

सनास ने कहा कि लड़की ने सुसाइड नोट में जिक्र किया है कि इस साल शुरू में हुई 10वीं कक्षा की परीक्षा में उसे 89 प्रतिशत अंक मिले थे लेकिन वह उस श्रेणी में दाखिला नहीं ले सकी जहां उसके परिवार को फीस का भुगतान देनी पड़ती.

उन्होंने बताया कि लड़की ने कहा कि मराठा समुदाय में पैदा होने की वजह से उसने अन्याय का सामना किया.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि लड़की ने उम्मीद जताई कि उसका बलिदान मराठा समुदाय को आरक्षण के लिए किए जा रहे आंदोलन को बढ़ावा देगा.

पिछले दो महीनों में करीब आठ लोग मराठा समुदाय को आरक्षण दिलाने के लिए अपनी जान दे चुके हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर