Ground Report : मथुरा के गांव में वैक्सीन पर मौत की अफवाह भारी! कोरोना से बेखौफ चौकीपुरा गांव के लोग

गांव के एक बुजुर्ग ने कहा, कोरोना महामारी से बचाव के लिए हम काढ़ा पी रहे हैं, इसीलिए हमने वैक्सीनेशन नहीं करवाया है. हम बिल्कुल स्वस्थ्य हैं.

गांव के एक बुजुर्ग ने कहा, कोरोना महामारी से बचाव के लिए हम काढ़ा पी रहे हैं, इसीलिए हमने वैक्सीनेशन नहीं करवाया है. हम बिल्कुल स्वस्थ्य हैं.

चौकीपुरा गांव के पूर्व प्रधान दारा सिंह ने बताया कि ओल में 2 से 3 लोगों ने वैक्सीन लगवाई और तीसरे दिन ही मौत हो गई. वैक्सीन लगवाने के बाद हुई मौतों से लोगों में खौफ है इसीलिए वो वैक्सीनेशन नहीं करवाना चाहते हैं.

  • Share this:

मथुरा. देश की राजधानी दिल्ली से 170 किमी की दूरी पर यूपी-राजस्थान के बॉर्डर के पास मथुरा जिले का चौकीपुरा गांव शहरी शोरगुल से दूर है. कोरोना महामारी (Corona Pandemic) की जानकारी तो यहां है लेकिन लोग फिर भी बेपरवाह घूम रहे हैं. मास्क तो बुजुर्ग, बच्चों और महिलाओं के चेहरे पर खोजने से भी मिलना मुश्किल है. गांव के लोग कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन नहीं लेना चाहते थे, वजह है अफवाह और आशंकाएं.

1800 आबादी वाले इस गांव में 31 मई को जब स्वास्थ्य विभाग की टीम वैक्सीनेशन के लिए पहुंची तो 45 साल से अधिक उम्र के सिर्फ 10 लोगों ने टीका लिया. लोगों को इस बात का डर है कि कहीं वैक्सीन लेने से उनकी मौत न हो जाए.

वैक्सीन पर अफवाहों का बाजार गर्म

दरअसल एक अफवाह की वजह से चौकीपुरा गांव के लोग टीका नहीं लगवाना चाहते. गांव से 2 किमी दूर स्थित ओल कस्बे में वैक्सीन लगवाने के 3 दिन बाद तीन लोगों की मौत की अफवाह ने जोर पकड़ा और टीकाकरण को लेकर गांव के सामान्य लोग तो दूर गांव के प्रधान और पूर्व प्रधान ने ही टीका नहीं लगवाया.
क्या कहना है गांव के लोगों का

चौकीपुरा गांव के पूर्व प्रधान दारा सिंह ने बताया कि ओल में 2 से 3 लोगों ने वैक्सीन लगवाई और तीसरे दिन ही मौत हो गई. वैक्सीन लगवाने के बाद हुई मौतों से लोगों में खौफ है इसीलिए वो वैक्सीनेशन नहीं करवाना चाहते हैं. गांव के एक दूसरे बुजुर्ग ने कहा, कोरोना महामारी से बचाव के लिए हम काढ़ा पी रहे हैं, इसीलिए हमने वैक्सीनेशन नहीं करवाया है. हम बिल्कुल ही स्वस्थ्य हैं.

हालांकि गांव के जिन 10 लोगों ने वैक्सीन लगवाई उनमें से भी कुछ लोगों से न्यूज़18 इंडिया की टीम ने बात की.  वैक्सीन को इन लोगों ने सफल बताया. एक महिला ने कहा की वैक्सीन पर विश्वास नहीं है. एक महिला ने तो यहां तक कह की कि वैक्सीन को दूर ही रखें, गांव से बाहर. हमारी मर्जी, हमारी खुशी, हमारा दिल की हम वैक्सीन नहीं लगवाएंगे.



टीकाकरण टीम का क्या कहना है?

चौकीपुरा गांव में 31 मई को टीका देने पहुंची टीम की स्वास्थ्य कर्मचारी किरण और ममता से न्यूज़ 18 इंडिया की टीम ने बातचीत की. दोनों ने बताया कि गांववालों ने बताया कि ओल में टीका लेने से 3 लोगों की मौत हो गई है, इसलिये वो टीका नहीं लेंगे. दोनों ने गांववालों को बताया कि ये अफवाह है. दोनों स्वास्थ्यकर्मियों ने बताया कि गांववालो ने ये भी बताया कि पहले जो वैक्सीन लग रही थी वो असली है और ये नकली है. कुल 10 लोग आये थे जिन्होंने वैक्सीन लगवाई थी.

ये भी पढ़ेंः- केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते बोले- शराब बड़ा टॉनिक है, कोरोना कॉल में बहुत जरूरी


मथुरा के ओल के लोगों का क्या कहना है

वहीं, ओला में रहने वाले स्थानीय संतोष ने बताया कि 3 लोगों ने वैक्सीन लगवाई और बुखार आने के बाद तीन लोगों की मौत हो गई. दूसरे स्थानीय युवक ने भी इसकी पुष्टि की. हालांकी ओल के लोगों ने बताया कि वैक्सीन से डरने की ज़रूरत नहीं. यूपी के मथुरा जिले समेत कई गांवों से ऐसी शिकायते आ रही है जहां लोग वैक्सीन को लेकर अलग-अलग अफ़वाहों के शिकार हैं. चौकीपुरा गांव ऐसा ही एक गांव है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज