अपना शहर चुनें

States

मां बनी नाबालिग से विवाह को तैयार हुआ शादीशुदा आरोपी तो POCSO कोर्ट ने दी जमानत

कोर्ट ने माना है कि लड़की और आरोपी युवक के बीच सहमति से संबंध बने थे.
कोर्ट ने माना है कि लड़की और आरोपी युवक के बीच सहमति से संबंध बने थे.

POCSO Court: नाबालिग की मां ने भी अदालत में एक हलफनामा दायर कर युवक को रिहा करने की मांग की थी. मां ने कोर्ट को बताया कि वो चाहती है कि आरोपी उसकी बेटी से शादी कर ले.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2021, 2:22 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई में प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस (POCSO) कोर्ट में एक मामले की सुनवाई चल रही थी, जिसमें 25 वर्षीय एक युवक ने एक नाबालिग को गर्भवती (Pregnant) कर दिया था. गुरुवार को कोर्ट ने युवक की जमानत याचिका को मंजूर कर लिया है. दरअसल, युवक ने कोर्ट के सामने इच्छा जताई थी कि वो उस नाबालिग से शादी करने के लिए तैयार है. कोर्ट ने इस मामले को सहमति के साथ बनाया गया संबंध माना है. आरोपी पहले से शादीशुदा था.

नाबालिग की मां ने अदालत में एक हलफनामा दायर कर युवक को रिहा करने की मांग की थी. मां ने कोर्ट को बताया कि वो चाहती है कि आरोपी उसकी बेटी से शादी कर ले. नाबालिग ने आरोपी के बच्चे को जन्म दिया है. खास बात है कि मां ने ही शुरुआत में आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी. फिलहाल कोर्ट ने आरोपी को जमानत दे दी है.

यह भी पढ़ें: पैंट की जिप खोलना POCSO के तहत 'यौन शोषण' नहीं- स्किन टू स्किन टच का फैसला सुनाने वालीं जज का नया फैसला



कोर्ट ने पाया कि युवक और 16 साल की बच्ची के बीच सहमति से संबंध बने थे. साथ ही युवक 2 साल बाद बच्ची के बालिग होने पर उससे शादी करने के लिए भी तैयार है. इसके आधार पर आरोपी को जमानत दे दी गई है. आरोपी लड़की के पिता का परिचित है और लड़की ने गर्भवती की बात सभी से छिपाई. यह आरोप है कि युवक ने नाबालिग को धमकी थी कि वो पिता के रूप में उसकी पहचान उजागर न करे.

दलीलें सुनने के बाद जज ने आदेश जारी किया 'यह नहीं कहा जा सकता है कि आरोपी की पहली शादी उनकी जानकारी में नहीं थी. यह दाखिल किया गया है कि नाबालिग आरोपी से शादी करने की चाहत रखती है और आरोपी भी लड़की के 18 साल के होने पर उससे शादी करना चाहता है.' अदालत ने कहा 'साथ ही यह मामला प्रेम प्रसंग के तौर पर सामने आ रहा है और सहमति से संबंध का है.' जज ने कहा 'मेरा कहना है कि आरोपी को जेल में रखने की कोई जरूरत नहीं है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज