Home /News /nation /

कश्‍मीर: आजादी के दिन शहादत के एक साल बाद पति की यूनिट में पत्‍नी ने फहराया तिरंगा

कश्‍मीर: आजादी के दिन शहादत के एक साल बाद पति की यूनिट में पत्‍नी ने फहराया तिरंगा

कश्मीर में सीआरपीएफ की 49वीं बटालियन में आजादी की सालगिरह के मौके पर शहीद अफसर की पत्‍नी ने तिरंगा फहराया.

    कश्मीर में सीआरपीएफ की 49वीं बटालियन में आजादी की सालगिरह के मौके पर शहीद अफसर की पत्‍नी ने तिरंगा फहराया. यहां पर शहीद कमांडेंट प्रमोद कुमार की पत्‍नी नेहा त्रिपाठी ने तिरंगा फहराया. इस मौके पर माहौल काफी भावुक था. बता दें कि कमांडेंट प्रमोद कुमार एक साल पहले 15 अगस्‍त को शहीद हो गए थे.

    कमांडेंट प्रमोद जामताड़ा झारखंड के रहनेवाले थे. 15 अगस्त 2016 को डीआईजी नार्थ जब छुट्टी पर थे तो उन्होंने 49वी बटालियन में झंडा फहराया था.

    कुछ देर बाद उनकी टीम को सूचना मिली कि आतंकवादियों के एक ग्रुप ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया है. प्रमोद तुरंत अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंच गए. कई घंटों तक चली मुठभेड़ में उन्होंने दो आतंकियों को मार गिराया.

    crpf, crpf 45 unit kashmir, independence day, commandant pramod kumar, pramod kumar kirti chakra, tri colour hoist

    इस दौरान उन्‍हें भी गोली लग गई और वे शहीद हो गए. प्रमोद को उनकी वीरता के लिये मरणोपरांत कीर्ति चक्र से भी सम्मानित किया गया है.

    न्यूज18 इंडिया से बात करते हुए शहीद कमांडेंट प्रमोद की पत्नी ने बताया कि उनकी 6 साल की बेटी को फिलहाल इस वक्त ठीक से नहीं पता कि कीर्ति चक्र का महत्व क्या होता है. लिहाजा बिटिया को ये महसूस कराने के लिए कि उसके पिता ने कितना महान काम किया वो उसे उसके पिता की यूनिट श्रीनगर लेकर गई.

    दरसल प्रमोद के शहीद होने के बाद उनको सच्ची श्रद्धांजलि देने के लिए उनकी पत्नी नेहा ने इच्छा जताई थी कि वह उसी यूनिट में तिरंगा फहराना चाहती हैं. इसे मान लिया गया और उन्‍हें पूरे सम्मान के साथ लाया गया.

    ये भी पढ़ें

    आजादी के 70 साल: भगत सिंह को अब तक नहीं मिला शहीद होने का दर्जा
    लाल किले पर पहली बारः सेना की मेडिकल ऑफिसर ने पीएम के साथ फहराया झंडा

    Tags: CRPF, Independence day

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर