लाइव टीवी

कोरोना वायरस: 24 राज्‍यों के 14,522 स्‍वयं सहायता समूहों ने बनाए 132 लाख फेस मास्‍क

News18Hindi
Updated: April 4, 2020, 7:01 PM IST
कोरोना वायरस: 24 राज्‍यों के 14,522 स्‍वयं सहायता समूहों ने बनाए 132 लाख फेस मास्‍क
मास्क नहीं पहनने वालों पर सरकार सख्ती की तैयारी कर रही है. सांकेतिक फोटो.

CoronaVirus: बिहार, छत्तीसगढ़, गुजरात, केरल, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और कई पूर्वोत्तर राज्यों के विभिन्‍न जिलों के कई स्‍वयं सहायता समूहों द्वारा फेस मास्‍क बनाने का काम किया जा रहा है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. ग्रामीण विकास मंत्रालय ने राष्‍ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत देश के 24 राज्‍यों के 399 जिलों में स्‍वयं सहायता समूहों के सदस्‍यों द्वारा फेस मास्‍क का उत्‍पादन शुरु कराया है. इस मिशन के तहत आंध्र प्रदेश के 5 जिलों में 4281 स्‍वयं सहायता समूहों के 21,028 सदस्य और तमिलनाडु के 32 जिलों में 1927 स्‍वयं सहायता समूहों के 10,780 सदस्यों ने 10 दिनों में क्रमशः 25,41,440 और 26,01,735 मास्क का उत्पादन किया है.

ऐसे ही बिहार, छत्तीसगढ़, गुजरात, केरल, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और कई पूर्वोत्तर राज्यों के विभिन्‍न जिलों के कई स्‍वयं सहायता समूहों द्वारा फेस मास्‍क बनाने का काम किया जा रहा है. इनमें 14,522 स्‍वयं सहायता समूहों के 65,936 SHG सदस्य शामिल हैं जिन्‍होंने कुल मिलकर 132 लाख मास्क बनाए हैं.

किस राज्‍य ने कितने फेस मास्‍क बनाएं



- आंध्र प्रदेश में 25 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ था. यहां के 5 जिलों के 4281 स्‍वयं सहायता समूहों के 21,028 सदस्‍यों ने 3 अप्रैल तक 25,41,440 फेस मास्‍क तैयार किए हैं.



- बिहार में 22 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 34 जिलों के 271 स्‍वयं सहायता समूहों के 1,084 सदस्‍यों ने 3 अप्रैल तक 3,49,517 फेस मास्‍क बनाए.

- छत्‍तीसगढ़ में 26 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 24 जिलों के 932 स्‍वयं सहायता समूहों के 2,674 सदस्‍यों ने 2 अप्रैल तक 5,49,712 फेस मास्‍क बनाए.

- गुजरात में 23 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 33 जिलों के 367 स्‍वयं सहायता समूहों के 1,470 सदस्‍यों ने 3 अप्रैल तक 10,49,319 फेस मास्‍क तैयार किए.

- हरियाणा में 13 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 6 जिलों के 48 स्‍वयं सहायता समूहों के 234 सदस्‍यों ने 2 अप्रैल तक 1,46,800 फेस मास्‍क तैयार किए.

- हिमाचल प्रदेश में 25 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 8 जिलों के 150 स्‍वयं सहायता समूहों के 370 सदस्‍यों ने 2 अप्रैल तक 1,00,000 फेस मास्‍क तैयार किए.

- झारखंड में 22 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 21 जिलों के 131 स्‍वयं सहायता समूहों के 394 सदस्‍यों ने 3 अप्रैल तक 3,00,215 फेस मास्‍क तैयार किए.

- कर्नाटक में 23 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 12 जिलों के 139 स्‍वयं सहायता समूहों के 581 सदस्‍यों ने 3 अप्रैल तक 1,56,155 फेस मास्‍क तैयार किए.

- केरल में 15 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 14 जिलों के 306 स्‍वयं सहायता समूहों के 1,570 सदस्‍यों ने 3 अप्रैल तक 15,77,770 फेस मास्‍क तैयार किए.

- मध्‍य प्रदेश में 19 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 52 जिलों के 1,511 स्‍वयं सहायता समूहों के 4652 सदस्‍यों ने 31 मार्च तक 10,04,419 फेस मास्‍क तैयार किए.

- महाराष्‍ट्र में 24 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 25 जिलों के 602 स्‍वयं सहायता समूहों के 2,558 सदस्‍यों ने 3 अप्रैत तक 3,62,332 फेस मास्‍क तैयार किए.

- मिजोरम में 27 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 1 जिलों के 1 स्‍वयं सहायता समूह के 1 सदस्‍य ने 3 अप्रैत तक 100 फेस मास्‍क तैयार किए.

- नगालैंड में 28 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 5 जिलों के 48 स्‍वयं सहायता समूहों के 475 सदस्‍यों ने 3 अप्रैत तक 6819 फेस मास्‍क तैयार किए.

- ओडिशा में 20 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 12 जिलों के 202 स्‍वयं सहायता समूहों के 1,388 सदस्‍यों ने 1 अप्रैत तक 2,78,076 फेस मास्‍क तैयार किए.

- पुडुचेरी में 17 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 2 जिलों के 143 स्‍वयं सहायता समूहों के 303 सदस्‍यों ने 3 अप्रैत तक 1,20,380 फेस मास्‍क तैयार किए.

- पंजाब में 21 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 15 जिलों के 575 स्‍वयं सहायता समूहों के 2,536 सदस्‍यों ने 3 अप्रैत तक 2,43,268 फेस मास्‍क तैयार किए.

- राजस्‍थान में 27 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 6 जिलों के 1,206 स्‍वयं सहायता समूहों के 6297 सदस्‍यों ने 3 अप्रैत तक 92,890 फेस मास्‍क तैयार किए.

- सिक्किम में 31 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 1 जिले के 25 स्‍वयं सहायता समूहों के 250 सदस्‍यों ने 3 अप्रैत तक 10,000 फेस मास्‍क तैयार किए.

- तमिलनाडु में 26 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 32 जिलों के 1,927 स्‍वयं सहायता समूहों के 10,780 सदस्‍यों ने 4 अप्रैत तक 26,01,735 फेस मास्‍क तैयार किए.

- तेलंगाना में 18 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 11 जिलों के 248 स्‍वयं सहायता समूहों के 2,480 सदस्‍यों ने 2 अप्रैत तक 5,80,000 फेस मास्‍क तैयार किए.

- त्रिपुरा में 30 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 4 जिलों के 45 स्‍वयं सहायता समूहों के 173 सदस्‍यों ने 3 अप्रैत तक 4,650 फेस मास्‍क तैयार किए.

- उत्तर प्रदेश में 28 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 49 जिलों के 968 स्‍वयं सहायता समूहों के 2,027 सदस्‍यों ने 3 अप्रैत तक 3,64,894 फेस मास्‍क तैयार किए.

- उत्तराखंड में 26 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 10 जिलों के 112
स्‍वयं सहायता समूहों के 421 सदस्‍यों ने 3 अप्रैत तक 4,74,490 फेस मास्‍क तैयार किए.

- पश्चिम बंगाल में 20 मार्च को मास्‍क बनाने का काम शुरू हुआ. यहां के 17 जिलों के 284
स्‍वयं सहायता समूहों के 2,190 सदस्‍यों ने 3 अप्रैत तक 2,91,794 फेस मास्‍क तैयार किए.

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस: अब विपक्षी दलों के नेताओं से बातचीत करेंगे पीएम मोदी

ये भी पढ़ें: सरकार का बड़ा कदम, अब 50 करोड़ लोगों की मुफ्त में होगी कोरोना की जांच और इलाज
First published: April 4, 2020, 6:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading