उत्तर भारत में मानसून के लिए करना पड़ सकता है इंतजार, जानें दिल्ली समेत इन राज्यों में कब होगी बारिश

बंगाल की खाड़ी में बने दबाव से प्री मानसून ने दस्तक दे दी है.

Monsoon in India: आईएमडी महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि लेकिन वर्तमान परिस्थिति में इसकी संभावना नहीं है. विभाग ने कहा कि मानसन का उत्तरी छोर का प्रभाव दीव, सूरत, नंदुरबार, भोपाल, नौगोंग, हमीरपुर, बाराबंकी, बरेली, सहारनपुर, अंबाला और अमृतसर में बना हुआ है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने सोमवार को पूर्वानुमान में कहा है कि उत्तर भारत के कई हिस्सों को अभी मानसून (Monsoon in North India) के लिए थोड़ा और इंतजार करना पड़ेगा क्योंकि समीप आ रही पछुआ हवा की वजह से उसकी रफ्तार धीमी हो सकती है. विभाग ने इससे पहले पूर्वानुमान में कहा था कि दक्षिण-पश्चिम मानसून के 15 जून तक राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने की संभावना है.

    आईएमडी महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि लेकिन वर्तमान परिस्थिति में इसकी संभावना नहीं है. विभाग ने कहा कि मानसन का उत्तरी छोर का प्रभाव दीव, सूरत, नंदुरबार, भोपाल, नौगोंग, हमीरपुर, बाराबंकी, बरेली, सहारनपुर, अंबाला और अमृतसर में बना हुआ है.

    उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्स में पहुंच चुका है मानसून
    उसने कहा, दक्षिण पश्चिम मानसून अब तक पूरे प्रायद्वीप (दक्षिण भारत) पूर्वी मध्य एवं पूर्वी एवं उत्तरपूर्वी भारत तथा उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में पहुंचा है. वहां बिना किसी रूकावट के सक्रिय मानसून परिसंचरण एवं निम्न दबाव का क्षेत्र सक्रिय है.

    ये भी पढ़ेंः- Covid-19: महाराष्ट्र में 24 घंटे में कोरोना के 8 हजार नए केस, कम टेस्टिंग है वजह!

    उसने कहा, 'लेकिन समीप आती मध्य अक्षांशीय पछुआ हवा के कारण उत्तर पश्चिम भारत के बाकी हिस्सों में मानसून धीमा होने की संभावना है.' उसने कहा कि मानसून की प्रगति पर लगातार नजर रखी जा रही है और दैनिक आधार पर आगे अद्यतन जानकारी दी जाएगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.