Home /News /nation /

S-400 पर अमेरिका को MEA का जवाब, भारत की हमेशा स्वतंत्र विदेश नीति रही

S-400 पर अमेरिका को MEA का जवाब, भारत की हमेशा स्वतंत्र विदेश नीति रही

एस-400 मिसाइल प्रणाली के परिचालन के प्रशिक्षण के लिए भारतीय सैन्य दल रूस जाएगा  (फाइल फोटो)

एस-400 मिसाइल प्रणाली के परिचालन के प्रशिक्षण के लिए भारतीय सैन्य दल रूस जाएगा (फाइल फोटो)

विदेश मंत्रालय (Ministry of external affairs)के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव (Anurag Shrivastava) ने कहा, भारत ने हमेशा स्वतंत्र विदेश नीति अपनाई है. ये विदेश नीति देश की सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए रक्षा सौदों की खरीदारी और आपूर्ति पर भी लागू होती है.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. रूस के साथ एस-400 हवाई मिसाइल रक्षा प्रणाली के सौदे (S-400 deal) के मामले में भारत ने अमेरिकी की धमकी का सख्त जवाब दिया है. विदेश मंत्रालय (Ministry of external affairs) ने रूस के साथ 5.4 बिलियन डॉलर के एस-400 हवाई मिसाइल रक्षा प्रणाली डील के मामले में सख्त लहजे में कहा ,'भारत की अपनी स्वतंत्र विदेश नीति है. राष्ट्रीय सुरक्षा के मसलों को देखते हुए इसी स्वतंत्र विदेश नीति के आधार पर भारत अपने रक्षा सौदे करता है.

    यह बयान शुक्रवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने हाल ही में आई एक रिपोर्ट का जवाब देते हुए दिया, जिसमें कहा गया था कि रूस के साथ हवाई रक्षा प्रणाली खरीदने पर भारत को अमेरिका (America) की तरफ से प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है. रूस (Russia) की तरफ से भी जारी किए गए बयान में कहा गया है कि S,400 हवाई रक्षा प्रणाली की डील अपने तय समय पर होगी.

    अमेरिका को भारत का सख्त जवाब
    वीकली न्यूज ब्रीफिंग के दौरान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव (Anurag Shrivastava) ने कहा, 'भारत और अमेरिका के बीच विस्तृत वैश्विक साझेदारी है. भारत और रूस के बीच एक खास और महत्वपूर्ण रणनीतिक साझेदारी है. श्रीवास्तव ने कहा, भारत ने हमेशा स्वतंत्र विदेश नीति अपनाई है. ये विदेश नीति देश की सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए रक्षा सौदों की खरीदारी और आपूर्ति पर भी लागू होती है.'  एक दूसरे सवाल अमेरिका एच1बी वीजा (H-1B VISA) की प्रक्रिया में बदलाव कर रहा के जवाब में श्रीवास्तव ने कहा कि इस मामले में भारत इस मुद्दे पर अमेरिका से बातचीत कर रहा है. अमेरिका प्रति वर्ष तकरीबन अपने यहां 70 प्रतिशत वीजा भारतियों को जारी करता है.

    वहीं भारत में अमेरिकी राजदूत केनेथ जस्टर ने कहा, प्रतिबंध किसी भी तरह से अमेरिका के मित्र राष्ट्रों के लिए नहीं है. हालांकि भारत को जल्द ही मिलिट्री हार्डवेयर सौदों को लेकर कठोर निर्णय लेने की जरूरत है.

    Tags: India, MEA, Russia, US

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर