ट्रेनों, रेलवे स्टेशनों पर बढ़ेंगी चिकित्सा सुविधाएं, मरीजों को मिलेगी सहूलियत

इन चिकित्सा सुविधाओं में प्रसव किट, ऑक्सीजन सिलेंडर, लैरिंगोस्कोप्स, कैथिटर, सिरिंज, गोलियां, स्पिलिंट्स, सभी प्रकार और आकार की पट्टियां, मरहम और ऑक्सीजन डीफिब्रिलैटर जैसी चीजें शामिल होंगी.


Updated: June 14, 2018, 11:19 PM IST
ट्रेनों, रेलवे स्टेशनों पर बढ़ेंगी चिकित्सा सुविधाएं, मरीजों को मिलेगी सहूलियत
Image for representation.

Updated: June 14, 2018, 11:19 PM IST
सभी ट्रेनों में और रेलवे स्टेशनों पर अब 88 लाइफ सेविंग डिवाइस, दवाएं और इंजेक्शन उपलब्ध होंगे. जल्द ही रेलवे स्टेशन पर इमरजेंसी मेडिकल रूम बनाया जाएगा. ये सुविधाएं रेलवे परिसरों में आम तौर पर पाए जाने वाले फर्स्ट एड बॉक्स की जगह लेंगी. जिसका लाभ ट्रेन के हर यात्री को मिलेगा.

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इन चिकित्सा सुविधाओं में प्रसव किट, ऑक्सीजन सिलेंडर, लैरिंगोस्कोप्स, कैथिटर, सिरिंज, गोलियां, स्पिलिंट्स, सभी प्रकार और आकार की पट्टियां, मरहम और ऑक्सीजन डीफिब्रिलैटर जैसी चीजें शामिल होंगी.

अधिकारी ने कहा, ‘सुप्राीम कोर्ट ने ट्रेनों में यात्रियों को आपातकालीन चिकित्सा देखरेख उपलब्ध कराने के मुद्दे को देखने के लिए एम्स की एक समिति गठित की थी, जिसने अपनी रिपोर्ट में उन उपकरणों की सूची दी जो हमें उपलब्ध करानी हैं. हमने उसका पालन किया और यात्रियों को यह उपलब्ध कराना शुरू कर दिया.’

उन्होंने कहा कि तीन-चार लाख रुपये की कीमत वाले ऑक्सीजन डीफिब्रिलैटर को छोड़कर अन्य सभी चिकित्सा आपूर्ति चरणबद्ध तरीके से रेलवे द्वारा की जा रही है.

बता दें कि किसी यात्री के अचानक बीमार होने की सूचना पर चिकित्सक उस ट्रेन, कोच या ईएमआर में मौजूद होंगे. स्टेशन पर यह सुविधा 24 घंटे उपलब्ध रहेगी.

(इनपुट भाषा से)

 
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Nation News in Hindi यहां देखें.

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर