मेडिकल ऑक्सीजनः टैंकर प्लांट से कब निकला, कब मंजिल पर पहुंचेगा.. रियल टाइम ट्रैक कर रही सरकार

रेलवे चला रहा है ऑक्‍सीजन एक्‍सप्रेस. (File pic)

रेलवे चला रहा है ऑक्‍सीजन एक्‍सप्रेस. (File pic)

GPS tracking enabled for oxygen tankers: अतिरिक्त सचिव पीयूष गोयल ने कहा, जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम से हमें यह पता चलेगा कि टैंकर प्लांट से कब निकला और कब मंजिल पर पहुंचेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 5:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने सोमवार को कहा है कि जीपीएस (GPS Tracking) के माध्यम से ऑक्सीजन लाने वाले टैंकरों को लाने-ले जाने की स्थिति पर नजर बनाए हुए है और अस्पतालों को कम से कम समय में ऑक्सीजन (Medical Oxygen) उपलब्ध कराया जा रहा है. केंद्रीय गृह मंत्रालय में एक अधिकारी ने कहा कि रोड ट्रांसपोर्ट और हाइवे ने टैंकरों को रियल टाइम ट्रैक करने के लिए एक सिस्टम विकसित किया है. मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने कहा, "टैंकर की स्थिति को पता लगाने में मुश्किलें आ रही थीं कि टैंकर कहां हैं और टैंकर कब पहुंचेंगे, ताकि उनके पहुंचने से पहले तैयारी की जा सके. हम इसके लिए एक प्रक्रिया विकसित करना चाह रहे थे कि जिससे कि ऑक्सीजन का वितरण बराबर हो सके और दुर्घटना भी टाली जा सके. जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम से हमें यह पता चलेगा कि टैंकर प्लांट से कब निकला और कब मंजिल पर पहुंचेगा. इससे हमें टैंकर के पहुंचने से पहले तैयारी करने का मौका मिल जाता है."

केंद्रीय गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने कहा कि देश में मेडिकल ऑक्सीजन (Medical Oxygen) का पर्याप्त भंडार है, लेकिन भारी मांग वाले क्षेत्रों में इनकी आपूर्ति करने का मुद्दा है, जिसका समाधान करने का प्रयास किया जा हरा है. मंत्रालय ने यह भी कहा कि भारतीय वायुसेना के परिवहन विमान की मदद से ऑक्सीजन लाने वाले टैंकरों के गंतव्य स्थल तक पहुंचने के समय को चार-पांच दिन से घटाकर एक-दो घंटे कर दिया गया है. उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास ऑक्सीजन का पर्याप्त भंडार है. मुद्दा ढुलाई का है, जिसका समाधान करने का प्रयास हम कर रहे हैं.’’

Youtube Video


देश में ऑक्सीजन की बढ़ती मांग के बीच गोयल ने कहा, ‘‘ऑक्सीजन को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि हम उत्पादक राज्यों से भारी मांग वाले इलाकों में ऑक्सीजन की ढुलाई करने के मुद्दे को सुलझाने का प्रयास कर रहे हैं.’’ बीते शुक्रवार से गृह मंत्रालय देश में विभिन्न हिस्सों में मौजूद ऑक्सीजन भरने के स्टेशनों तक खाली टैंकरों और कंटेनरों को ले जाने के लिए प्रयासों में समन्वय कर रहा है, ताकि जरूरतमंद कोरोना मरीजों तक ऑक्सीजन जल्द से जल्द पहुंचाई जा सके.


देश में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति गंभीर बनी हुई है. पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 3,52,991 नए मामले आने के बाद सोमवार को संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,73,13,163 हो गई और संक्रमण से 2,812 लोगों की मौत होने से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 1,95,123 हो गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज