अपना शहर चुनें

States

News18- Byju's Young Genius: मिलिए 'जीवाश्म गर्ल' अश्विता से, खोज चुकी हैं डायनोसॉर के सबूत

अश्विता बिजू (फोटो: Facebook/Aswatha Biju)
अश्विता बिजू (फोटो: Facebook/Aswatha Biju)

इससे पहले दर्शक बाईजूस यंग जीनियस सीरीज में एक बार में दो पियानों बजाने वाले लिडियन नादस्वरम (Lydian Nadhasawaram) और ह्यूमन एटलस कही जाने वाली मेघाली मालविका (Meghali Malabika) को देख चुके हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2021, 12:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बाईजूस यंग जीनियस (Byju's Young Genius) का दूसरा एपिसोड 23 जनवरी को प्रसारित होने जा रहा है. इस एपिसोड में दर्शकों की मुलाकात 13 साल की अश्विता बिजू (Aswatha Biju) से होगी. बीजू को भारत की सबसे कम उम्र की पेलियेनटोलॉजिस्ट यानि जीवाश्म विज्ञानी कहा जाता है. इतना ही नहीं इन्होंने काफी कम उम्र में ही कई बड़े रिकॉर्ड्स अपने नाम कर लिए हैं. उनके साथ इस एपिसोड में  राजस्थान के जोधपुर में रहने वाली पूजा बिश्नोई (Pooja Bishnoi) भी होंगी. बिश्नोई फिलहाल ओलंपिक की तैयारी में लगी हुईं हैं.

तमिलनाडु के चेन्नई में रहने वाली अश्विता बिजू श्री चैतन्य टेक्नो स्कूल पलवक्कम में पढ़ाई करती हैं. उन्हें महज 13 साल की उम्र में ही ग्लोबल चाइल्ड प्रॉडिजी अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका है. बिजू करोड़ों साल पुरानी चीजों में डायनासॉर के सबूत खोज लेती हैं. उनकी इसी काबिलियत के चलते जीवाश्म गर्ल भी कहा जाता है. अपने सफर के बारे में बिजू का कहना है कि जब वे 5 साल की थीं, तो उन्हें पिता ने एक एनसाइक्लोपीडिया लाकर दिया था. उस समय वे पढ़ नहीं पाती थीं, लेकिन अलग-अलग किताबों में तस्वीरें देखना काफी पसंद था.

News18- Byju's Young Genius: वंडर किड ऑफ इंडिया एथलीट पूजा बिश्नोई, छोटी उम्र में किये बड़े कमाल



वे बताती हैं कि इसी तरह तस्वीरें देखते हुए उनकी आंखें अचानक एक पेज पर रुक गईं, जहां फोजिलाइज्ड अमोनाइनट की तस्वीर थी. इस ऑर्गेनिज्म की वजह से ही पेलियेंटोलॉजी फील्ड में उनकी दिलचस्पी बढ़ी. 11 साल की उम्र आते-आते उन्हें पता चला कि इतने सालों में देखे ऑर्गेनिज्म फॉजिल्स थे. उन्होंने बताया कि पेलियेंटोलॉजी फील्ड भारत में काफी लुप्त हैं. जब उन्हें इस बारे में पता चला, तो उन्होंने इसके संबंध में जागरूकता फैलाने के लिए काम शुरू किया.  अश्विता कहती हैं कि उनके माता-पिता को इस काम से कोई परेशानी नहीं है. उन्होंने कहा कि आप जब तक किसी चीज को छूएंगे और सीखेंगे नहीं, तब तक हम उसके बारे में कुछ नहीं जान पाएंगे.


इससे पहले दर्शक बाईजूस यंग जीनियस सीरीज में एक बार में दो पियानों बजाने वाले लिडियन नादस्वरम (Lydian Nadhasawaram) और ह्यूमन एटलस कही जाने वाली मेघाली मालविका (Meghali Malabika) को देख चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज