लाइव टीवी

कौन है महुआ मोइत्रा, जो संसद में दिए अपने पहले भाषण से ही चर्चित हो गई हैं

News18Hindi
Updated: June 28, 2019, 10:48 PM IST
कौन है महुआ मोइत्रा, जो संसद में दिए अपने पहले भाषण से ही चर्चित हो गई हैं
महुआ मोइत्रा संसद में दिए अपने पहले ही भाषण से चर्चा में आ गई हैं.

साल 2008 में महुआ भारत लौट आईं और फिर उनकी राजनीतिक यात्रा की शुरुआत हुई. महुआ ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत 2009 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 28, 2019, 10:48 PM IST
  • Share this:
संसद में अपने पहले ही भाषण से देश भर में चर्चा के केंद्र में चल रही महुआ मोइत्रा कोलकाता के एक बंगाली परिवार में 5 मई 1975 को पैदा हुईं. 15 साल की उम्र में वह पढ़ाई के लिए ब्रिटेन गईं. उन्होंने उच्च शिक्षा की पढ़ाई मेसाच्युसेट्स के माउंट होल्योक कॉलेज से की और जेपी मॉर्गन से इन्वेस्टमेंट बैंकर के रूप में अपने पेशेवर जीवन की शुरुआत की. उन्होंने न्यूयॉर्क और लंदन में कुछ सालों तक नौकरी की और वाइस प्रेसिडेंट के पद तक पहुंची.

साल 2008 में महुआ भारत लौट आईं और फिर उनकी राजनीतिक यात्रा की शुरुआत हुई. महुआ ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत 2009 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से की. राहुल गांधी की ‘आम आदमी के सिपाही’ परियोजना की वह एक मुख्य सदस्य रहीं. पर वह कांग्रेस के साथ ज़्यादा दिनों तक नहीं रहीं और फिर तृणमूल कांग्रेस में आ गईं. अपने मजबूत इरादे, तेज तर्रार, ओजस्वी भाषण और ज़िंदादिली के कारण वह अपनी नई पार्टी में शीघ्र ही बहुत लोकप्रिय हो गईं.

2016 में पहली बार चुनाव लड़ा

महुआ ने अपने जीवन का पहला चुनाव पश्चिम बंगाल विधानसभा के लिए 2016 में लड़ा. वह नादिया के करीमपुर चुनाव क्षेत्र से चुनाव जीतीं और अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी माकपा के समरेंद्र घोष को 16 हजार मतों से हराया. इसके बाद से महुआ मोइत्रा पश्चिम बंगाल विधान सभा की एक बहुत ही सक्षम और मजबूत विधायक के रूप में विख्यात रही हैं.



 

2019 में लड़ा लोकसभा चुनाव साल 2019 में महुआ मोइत्रा ने संसदीय चुनाव लड़ने के लिए अपने विधानसभा का सीट छोड़ दिया. उन्होंने करीमनगर लोकसभा क्षेत्र से संसद का चुनाव लड़ा और बीजेपी के कल्याण चौबे को 63 हजार से अधिक मतों से पराजित कर संसद पहुंची हैं.

पहले ही भाषण से चर्चाओं में आई

एनआरसी मामले पर संसद में सरकार पर हमला कर महुआ अपने पहले भाषण में ही अपने विरोधियों की प्रशंसा का भी हकदार बन गई हैं. संसद के नव निर्वाचित सांसदों में वह सबसे प्रतिभाशाली सांसद मानी जाती हैं.

ये भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल: मुस्लिम छात्रों के लिए अलग होगा डाइनिंग हॉल

विवादों में भी रही है महुआ

साल 2015 में महुआ उस समय विवादों में घिर गईं जब राष्ट्रीय चैनल पर हो रहे एक बहस में उन्होंने अपनी मध्यमा (बीच की ऊंगली) दिखाई. 2017 में उन्होंने बीजेपी संसद बाबुल सुप्रियो के ख़िलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज किया और उन पर टीवी पर हो रहे एक बहस में ‘महुआ महुआ पीकर बेहोश है’ कहने का आरोप लगाया.



जब एनआरसी को लेकर चर्चाओं में आई महुआ

महुआ मोइत्रा एनआरसी के ड्राफ्ट से बाहर कर दिए गए लोगों के परिवार वालों से मिलने असम गए तृणमूल कांग्रेस के शिष्टमंडल में भी शामिल थीं और उस समय असम के सिलचर हवाई अड्डे पर सुरक्षा बलों के साथ कथित रूप से हाथापाई करने की वजह से वह सुर्खियों में रही थीं.

वर्तमान में उन्होंने देश भर में घरों और दफ्तरों में बीजेपी सरकार की सोशल मीडिया की निगरानी और सर्वेलेंस के खिलाफ एक याचिका दायर कर रखी है जिस पर अभी सुनवाई होनी है.

ये भी पढ़ें: लोकसभा में अपने पहले भाषण के दौरान इतने कॉफिंडेट कैसे थे शाह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 28, 2019, 8:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर