अपना शहर चुनें

States

महबूबा मुफ्ती को नहीं किया गया है नजरबंद, पुलिस ने बताया क्यों नहीं जाने दिया गया पुलवामा

महबूबा मुफ्ती ने सरकार पर कई आरोप लगाए हैं. (फाइल फोटो)
महबूबा मुफ्ती ने सरकार पर कई आरोप लगाए हैं. (फाइल फोटो)

महबूबा ने ट्वीट किया था, मुझे एक बार फिर गैरकानूनी तरीके से हिरासत में लिया गया है. दो दिनों से, जम्मू-कश्मीर प्रशासन मुझे पुलवामा में वाहिद पारा के परिवार से मिलने नहीं दे रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2020, 5:48 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) और उनकी बेटी इल्तिजा मुफ्ती (Iltija Mufti) को नजरबंद किए जाने की खबरों पर कश्मीर जोन की पुलिस (Kashmir Zone Police) ने पूर्ण विराम लगा दिया है. पुलिस की ओर से जारी किए गए आधिकारिक बयान में कहा गया है कि महबूबा मुफ्ती को नजरबंद नहीं किया गया है उन्हें सुरक्षा कारणों की वजह से पुलवामा को दौरान नहीं करने की सलाह दी गई है.

बता दें कि महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने शुक्रवार को दावा किया था कि उन्हें और उनकी बेटी इल्तिजा मुफ्ती (Iltija Mufti) को नजरबंद कर दिया गया है और पार्टी नेता वाहिद पारा के दक्षिण कश्मीर के पुलवामा स्थित आवास पर नहीं जाने दिया जा रहा है. महबूबा ने ट्वीट किया था, "मुझे एक बार फिर गैरकानूनी तरीके से हिरासत में लिया गया है. दो दिनों से, जम्मू-कश्मीर प्रशासन मुझे पुलवामा में वाहिद पारा के परिवार से मिलने नहीं दे रहा है. भाजपा के मंत्रियों और उनकी कठपुतलियों को कश्मीर में हर जगह आने-जाने की अनुमति है लेकिन मेरे मामले में सुरक्षा संबंधी समस्या उत्पन्न हो जाती है."


बेटी इल्तिजा मुफ्ती को भी किया गया नजरबंद
महबूबा ने कहा था कि उनकी बेटी को भी घर में नजरबंद कर दिया गया है. उन्होंने कहा, "अत्याचार की कोई सीमा नहीं है. वाहिद को निराधार आरोपों के तहत गिरफ्तार कर लिया गया और मुझे उसके परिवार को सांत्वना देने के लिए मिलने नहीं दिया जा रहा. यहां तक कि मेरी बेटी इल्तिजा को भी घर में नजरबंद कर दिया गया है क्याोंकि वह भी वाहिद के परिवार से मिलना चाहती है."





मुफ्ती के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किए एक संवादपत्र के अनुसार अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक और निदेशक विशेष सुरक्षा समूह (एसएसजी) एसडी सिंह ने पुलवामा जिला पुलिस की मांग पर पूर्व मुख्यमंत्री की नैरा की प्रस्तावित यात्रा को जम्मू -कश्मीर के जिला विकास परिषद (डीडीसी) के 28 नवंबर को होने वाले चुनाव का हवाला देते हुए पुनर्निर्धारण की मांग की थी.

एनआईए हिरासत में पीडीपी नेता वाहिद पारा
उल्लेखनीय है कि देश में 2019 में हुए संसदीय चुनाव में समर्थन हासिल करने के लिए आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन (Hizbul Mujahideen) के साथ कथित सांठगांठ के मामले में इस सप्ताह की शुरुआत में गिरफ्तार पीडीपी नेता वाहिद पारा (Waheed ur Rehman Parra) को शुक्रवार को 15 दिन के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की हिरासत में भेज दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज