जम्मू-कश्मीर: 10 हजार जवानों की तैनाती पर महबूबा बोलीं- डरे हुए हैं घाटी को लोग

केंद्र सरकार के इस फैसले का जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और जम्मू-कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की नेता महबूबा मुफ्ती ने विरोध जताया है.

News18Hindi
Updated: July 27, 2019, 6:08 PM IST
जम्मू-कश्मीर: 10 हजार जवानों की तैनाती पर महबूबा बोलीं- डरे हुए हैं घाटी को लोग
पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी की नेता महबूबा मुफ्ती ने विरोध जताया है. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 27, 2019, 6:08 PM IST
जम्मू-कश्‍मीर में अर्धसैनिक बलों की 100 नई कंपनियां तैनात की गई हैं. कुछ ही दिनों में लगभग 16000 और जवान घाटी की सुरक्षा में तैनात किए जाएंगे. केंद्र सरकार के इस फैसले का जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और जम्मू-कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की नेता महबूबा मुफ्ती ने विरोध जताया है.

महबूबा ने अपने ट्विटर हैंडल के एक ट्वीट कर कहा कि घाटी में 10 हज़ार सैनिकों की तैनाती के केंद्र सरकार के फैसले ने लोगों में डर पैदा कर दिया है. कश्मीर में सुरक्षाबलों की कोई कमी नहीं है. जम्मू-कश्मीर एक राजनीतिक समस्या है जो कि मिलिट्री से हल नहीं होगी. भारत सरकार को अपनी पॉलिसी पर दोबारा विचार करने और उसमें सुधार करने की ज़रूरत है.

महबूबा मुफ्ती के ट्वीट का स्क्रीनशॉट


शाह फैसल ने भी जताया विरोध

इससे पहले पूर्व आईएएस अधिकारी और जम्मू-कश्मीर पीपल्स मूवमेंट (जेकेपीएम) के अध्यक्ष शाह फैसल ने भी गृह मंत्रालय के इस फैसले का विरोध जताया है. उन्होंने कहा कि इस फैसले के बाद जम्मू में अफवाह है कि घाटी में कुछ बड़ा होने वाला है.

उन्होंने माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा कि गृह मंत्रालय की तरफ से कश्मीर में केंद्रीय सुरक्षा बलों के 100 अतिरिक्त जवानों की तैनाती का फैसला घाटी चिंता पैदा कर रहा है. किसी को इस बात की जानकारी नहीं है कि सुरक्षाबलों को तैनात करने का ये फैसला अचानक क्यों लिया गया है. अफवाह है कि घाटी में कुछ बड़ा भयावह होने वाला है. क्या यह 35A के बारे में है. यह एक लंबी रात होने वाली है.

शाह फैसल के ट्वीट का स्क्रीनशॉट

Loading...

महबूबा मुफ्ती ने सुबह भी इस मामले से जुड़ा एक ट्वीट रीट्वीट किया था. जिसमें केंद्र सरकार के इस ऑर्डर की कॉपी भी लगी हुई है.

क्या है मामला
केंद्र ने आतंकवाद निरोधक अभियानों और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कश्मीर घाटी में केंद्रीय बलों के करीब दस हजार कर्मियों को भेजने का आदेश दिया है. गृह मंत्रालय ने कश्‍मीर में कानून व्‍यवस्‍था बनाए रखने के लिए सीएपीएफ समेत अन्‍य बलों की अतिरिक्‍त 100 कंपनियों को तैनात करने का आदेश दिया है.

मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स की 50, बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स की 10, सशस्त्र सीमा बल की 30 और भारत-तिब्बत बॉर्डर पुलिस की 10 कंपनियां तैनात की गई है. सूत्रों के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 अगस्‍त के कार्यक्रम में जम्‍मू कश्‍मीर जा सकते हैं. इसी दिन आर्टिकल 35ए पर कोई बड़ी घोषणा की जा सकती है.

ये भी पढ़ें-
J&K में 100 नई कंपनियां तैनात, सरकार ले सकती है बड़ा फैसला

कश्मीर के नेताओं ने जताई चिंता, पूछा- कुछ होने वाला है क्या?
First published: July 27, 2019, 5:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...