PM मोदी की सर्वदलीय बैठक में 2 प्रतिनिधि भेजेगा गुपकार गठबंधन, महबूबा के घर हुई मीटिंग

महबूबा मुफ्ती और उमर की गैरमौजूदगीर में फारूक अब्दुल्ला गुपकार का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं. (File Photo-PTI)

Jammu & Kashmir: पीपुल्‍स एलाएंस फॉर गुपकार (PAGD) की मीटिंग महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) के घर पर हुई. इसमें शामिल एक नेता का दावा है, 'हम सामूहिक रूप से लड़ाई पर बल दे रहे हैं. इसके तहत पीएजीडी दो प्रतिनिधियों को बैठक के लिए दिल्‍ली भेजेगा.'

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में विधानसभा चुनाव कराने सहित राजनीतिक प्रक्रियाओं को मजबूत करने की केंद्र सरकार की पहल के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 24 जून को वहां के सभी राजनीतिक दलों के साथ बैठक की अध्यक्षता कर सकते हैं.

    इस अहम बैठक से पहले पीपुल्‍स एलाएंस फॉर गुपकार (PAGD) की मीटिंग महबूबा मुफ्ती के घर पर हुई. इसमें शामिल एक नेता का दावा है, 'हम सामूहिक रूप से लड़ाई पर बल दे रहे हैं. इसके तहत पीएजीडी दो प्रतिनिधियों को बैठक के लिए दिल्‍ली भेजेगा.'

    मीटिंग में शामिल वरिष्‍ठ नेता ने यह भी कहा है, 'महबूबा जी ने बैठक के बॉयकॉट के बारे में निर्णय नहीं लिया है. हम एक बार फिर मिलकर इस पर चर्चा करेंगे कि ऑल पार्टी मीटिंग में किन दो लोगों को भेजा जाएगा.' वहीं पीडीपी के प्रवक्‍ता सुहैल बुखारी ने रविवार को बैठक के बाद कहा है, मीटिंग में सभी दल इस बात पर सहमत हैं कि इस मामले पर अंतिम निर्णय महबूबा मुफ्ती ही लेंगी. इसके लिए दो दिन में एक बैठक और होगी.

    हालांकि इस अहम बैठक से पहले सूत्रों ने न्‍यूज18 को बताया था कि इसमें संभवत: पीडीपी प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती हिस्‍सा नहीं लेंगी. ऐसा माना जा रहा है कि इस बैठक में गुपकार नेता के तौर पर पूर्व मुख्‍यमंत्री फारूक अब्‍दुल्‍ला शिरकत करेंगे.

    इससे पहले महबूबा मुफ्ती ने इस बात की पुष्टि की थी कि उन्‍हें केंद्र सरकार की ओर से बैठक में शामिल होने का आमंत्रण फोन कॉल के जरिये दिया गया था. यह बैठक 24 जून को दिल्‍ली में होनी है. इससे पहले रविवार को पीडीपी की पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी की अहम बैठक भी हुई है. इसमें केंद्र सरकार की ओर से जम्‍मू कश्‍मीर के राजनीतिक दलों को भेजे गए आमंत्रण पर चर्चा हुई. यह बैठक गुपकार में स्थित पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती के घर पर हुई.

    इस बैठक की अध्‍यक्षता महबूबा मुफ्ती ने की थी. इसमें पार्टी के नेता अब्दुल रहमान वीरी, मोहम्मद सरताज मदनी, गुलाम नबी लोन हंजुरा, महबूब बेग, नईम अख्तर, सुरिंदर चौधरी, यशपाल शर्मा, मास्टर तस्सदुक हुसैन, सोफी अब्दुल गफ्फार, निजाम-उद-दीन भट शामिल हुए. आसिया नकाश, फिरदौस अहमद टाक, मोहम्मद खुर्शीद आलम और मुहम्मद यूसुफ भट भी इस बैठक का हिस्‍सा रहे.

    पीएम मोदी की ओर यह बुलाई गई इस बैठक में केंद्र द्वारा अगस्त 2019 में जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे को निरस्त करने और इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजन करने की घोषणा के बाद से इस तरह की पहली कवायद होगी. इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और अन्य केंद्रीय नेताओं के हिस्‍सा लेने की भी संभावना है.

    महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार रात बताया था कि उन्हें केंद्र से 24 जून को बैठक के लिए फोन आया था. उन्होंने कहा था, ‘मैंने अभी फैसला नहीं किया है. मैं अपनी पार्टी के सदस्यों से चर्चा करके अंतिम फैसला लूंगी.’ अब्दुल्ला और महबूबा दोनों तत्कालीन जम्मू कश्मीर राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य कर चुके हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.