मेहुल चोकसी ने आर्थिक भगोड़ा ठहराए जाने को दी चुनौती, देरी के लिए तूफान को ठहराया जिम्मेदार

चोकसी ने आवेदन में कहा है कि वह पहले से ही तनाव में है और खराब दौर से गुजर रहा है अगर उसकी अपील दायल करने में देरी को माफ नहीं किया गया और आवेदन पर सुनवाई नहीं की गई तो यह उसके साथ पक्षपात होगा.

News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 3:06 PM IST
मेहुल चोकसी ने आर्थिक भगोड़ा ठहराए जाने को दी चुनौती, देरी के लिए तूफान को ठहराया जिम्मेदार
चोकसी ने आवेदन में कहा है कि वह पहले से ही तनाव में है और खराब दौर से गुजर रहा है अगर उसकी अपील दायल करने में देरी को माफ नहीं किया गया और आवेदन पर सुनवाई नहीं की गई तो यह उसके साथ पक्षपात होगा.
News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 3:06 PM IST
पंजाब नेशलन बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी में से एक मेहुल चोकसी ने 31 जनवरी को बंबई उच्च न्यायालय द्वारा दिए आदेश को चुनौती देने के लिए अपने वकील को निर्धारित 30 दिनों के अंदर कानूनी दस्तावेज न दे पाने के लिए उसने एंटीगुआ में आए तूफान को जिम्मेदार ठहराया है.

मेहुल चोकसी ने गवाहों की जांच की मांग की थी, जिसे 31 जनवरी को मुंबई की विशेष अदालत ने खारिज कर दिया. गवाहों के बयान के आधार पर ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मेहुल चोकसी को आर्थिक भगोड़ा घोषित किया था.



चोकसी इस आदेश को हाई कोर्ट में चुनौती देना चाहता है. कानून के नियमानुसार किसी अदालत द्वारा पारित आदेश की तारीफ को 30 दिनों के अंदर उच्च न्यायालय में अपील दायर करनी होती है. लेकिन चोकसी का वकील निर्धारित तिथि में वकालतनामा प्राप्त करने में असफल रहा.

देरी की वजह तूफान

चोकसी के वकील ने एंटीगुआ में आए असमय तूफान को इसका कारण बताया है. वकील ने कहा कि तूफान की वजह से कूरियर सेवा और शिपमेंट बाधित हो गई. दरअसल चोकसी ने फेडएक्स कूरियर के जरिए वकील को 18 जून को वकालतनामा भेजे थे, लेकिन उसे 24 जून को मिले.

चोकसी ने आवेदन में कहा है कि वह पहले से ही तनाव में है और खराब दौर से गुजर रहा है अगर उसकी अपील दायल करने में देरी को माफ नहीं किया गया और आवेदन पर सुनवाई नहीं की गई तो यह उसके साथ पक्षपात होगा. आवेदन में कहा गया है कि देरी जानबूझकर नहीं बल्कि चोकसी के नियंत्रण से परे कारणों की वजह से हुई.

ये भी पढ़ें: मेहुल चोकसी केस को लेकर SC पहुंचा केंद्र, बॉम्बे HC के इस फैसले को दी चुनौती
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...