Home /News /nation /

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में आगे आया निजामुद्दीन मरकज, 200 जमाती देंगे प्लाज़्मा

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में आगे आया निजामुद्दीन मरकज, 200 जमाती देंगे प्लाज़्मा

तबलीगी जमात के सदस्य

तबलीगी जमात के सदस्य

कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से उबर चुके तबलीबी जमात (Tablighi Jamaat) के करीब 200 लोगों ने प्लाज्मा देने की इच्छा जताई है.

    नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) की मेहनत रंग लाती दिख रही है. दो दिन पहले उन्होंने कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों से प्लाज्मा डोनेट करने की अपील की थी. अब तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) के 200 ज्यादा लोगों ने मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाए हैं. ये सारे लोग जो कोरोना से संक्रमित थे, लेकिन अब ठीक हो गए हैं. बता दें कि पिछले महीने दिल्ली के निज़ामुद्दीन में हुए मरकज में शामिल होने के लिए सैकड़ों की संख्या में तबलीगी जमात के लोग आए थे. इनमें कई लोग कोरोना से संक्रमित थे.

    केजरीवाल की अपील
    दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग के हवाले से बताया कि तबलीबी जमात के करीब 200 लोगों को प्लाज्मा लेने के लिए बुलाया जाएगा. सीएम केजरीवाल ने पिछले दिनों कहा था, ‘हर धर्म के लोग प्लाज्मा देकर एक दूसरे की जान बचाना चाहते हैं. मेरे मन में विचार आया कि हो सकता है कि किसी मुसलमान का प्लाज्मा हिंदू की जान बचाए. हो सकता है किसी हिंदू का प्लाज्मा मुसलमान की जान बचाए. भगवान ने जब धरती बनाई थी तब इंसान बनाए थे. प्लाज्मा धर्म देखकर नहीं बचाएगा.'



    जल्द बुलाए जाएंगे
    इससे पहले रविवार को AIIMS झज्जर में कोरोना सर्विस की चेयरपर्सन डॉक्टर सुषमा झटनागर ने कहा था कि ठीक हुए कुछ मरीजों से उनका ब्लड डोनेट करने की अपील की थी और वे मान गए हैं. अब वो इस तैयारी में जुटे हैं कि आखिर कैसे इनसे सैंपल लिए जाएं जिससे कि प्लाज्मा थेरेपी में ये काम आ सके.'

    प्‍लाज्‍मा थेरेपी क्या है?
    प्‍लाज्‍मा थेरेपी या पैसिव एंटीबॉडी थेरेपी के लिए उस व्‍यक्ति के खून से प्‍लाज्‍मा लिया जाता है, जिसे कोरोना वायरस से उबरे हुए 14 दिन से ज्‍यादा हो चुके हों. संक्रमण से उबर चुके अलग-अलग लोगों के शरीर में अलग-अलग समय तक एंटीबॉडीज बनती रहती हैं. ये उसको हुए संक्रमण की गंभीरता और रोग प्रतिरोधी क्षमता पर निर्भर करता है.

    ये भी पढ़ें:

    कोरोना के मरीजों की संख्या पर संदेह, ICMR और NCDC के आंकड़ों में भारी अंतर

    पंजाब: लॉकडाउन में भी ट्यूशन पढ़ा रही थी टीचर, बच्चे ने पुलिस को दे दी खबर

    Tags: Coronavirus in India, Tablighi Jamaat

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर