16 साल मैरिज सर्टिफिकेट लेने पहुंचे शख्स से कर्मचारियों ने कहा- दोबारा करो शादी

कोझिकोड के मुक्कोम निवासी मधुसूदन सब-रजिस्ट्रार के दफ्तर में गए. उन्होंने शादी करने के 16 साल बाद मैरिज सर्टिफिकेट की मांग की.

News18Hindi
Updated: July 14, 2019, 4:22 PM IST
16 साल मैरिज सर्टिफिकेट लेने पहुंचे शख्स से कर्मचारियों ने कहा- दोबारा करो शादी
कोझिकोड के मुक्कोम निवासी मधुसूदन सब-रजिस्ट्रार के दफ्तर में गए.
News18Hindi
Updated: July 14, 2019, 4:22 PM IST
केरल में शादी रजिस्ट्रार कार्यालय में एक अनोखा मामला सामने आया है. यहां एक शख्स 16 साल बाद मैरिज सर्टिफिकेट मांगने आया. जिसके बाद कार्यालय के चार कर्मचारियों ने उससे कहा कि वह दोबारा शादी करके आए. कर्मचारियों ने उसे सर्टिफिकेट देने से भी इनकार कर दिया.

राज्य के पंजीकरण मंत्री जी सुधाकरण ने सभी चार कर्मचारियों को निलंबित कर दया. चारों को 'दुर्व्यवहार और कर्तव्य परायणता में कमी' के आरोप में निलंबित किया. मिली जानकारी के अनुसार सुधाकरण ने इस संबंध में सोशल मीडिया पर एक की. पोस्ट में उन्होंने लिखा कि वह इस फिजूल बात को बर्दाश्त नहीं कर पाए और तुरंत निलंबन का आदेश जारी कर दिया.



कोझिकोड के मुक्कोम निवासी मधुसूदन सब-रजिस्ट्रार के दफ्तर में गए. उन्होंने शादी करने के 16 साल बाद मैरिज सर्टिफिकेट की मांगा.कर्मचारियों ने उनका मजाक उड़ाया. इसके बाद उन्हें कई दिन तक इंतजार करना पड़ा. जबकि सर्टिफिकेट उन्हें उसी दिन मिल जाना चाहिए था जिस दिन उन्होंने मांगा था.

यह भी पढ़ें:  मालिनी अवस्थी ने दी नसीहत, बोलीं- जीवन साथी चुनिए किन्तु...

मंत्री ने  सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा...

मंत्री जी. सुधाकरण ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा, 'मधुसूदन ने 27 फरवरी, 2003 को विशेष विवाह अधिनियम के प्रावधानों के तहत शादी की थी. उन्हें 19 जून को अपने प्रमाणपत्र की जरूरत थी और उन्होंने अपने विवाह प्रमाणपत्र की सत्यापित प्रति के लिए अनुरोध किया था.'  सुधाकरण ने कहा, टमैरिज सर्टिफिकेट देने की जगह कर्मचारियों ने उनका मजाक उड़ाया.'

समाचार एजेंसी IANS की एक रिपोर्ट के अनुसार सुधाकरण ने लिखा कि, 'कर्मचारियों ने मधूसुदन दोबारा शादी करने के लिए कहा, ताकि उन्हें पुराने रिकॉर्ड न देखना पड़े और वह जल्द मैरिज सर्टिफिकेट जारी कर दें.'
Loading...

मंत्री के मुताबिक 'मैरिज सर्टिफिकेट उसी वक्त दिया जा सकता था, लेकिन मधूसुदन को तीन दिनों तक इंतजार करने के लिए कहा गया. उन्हें अपमान भी बर्दाश्त करना पड़ा.' सुधाकरन ने लिखा, 'जब शख्स ने अपनी समस्या सोशल मीडिया पर जाहिर किया तब इसकी जानकारी मुझे मिली. मैंने वरिष्ठ अधिकारियों को इस मामले की जांच करने और रिपोर्ट सौंपने को कहा.'

यह भी पढ़ें: युवती के परिजन बोले- हमें ये शादी मंजूर नहीं, बेटी से मिलवाओ
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...