Home /News /nation /

mengaluru juma masjid section 144 imposed and deployed policemen

कर्नाटकः जुमा मस्जिद के बाहर धारा 144 लागू, VHP और बजरंग दल के लोगों ने की विशेष पूजा

मंगलुरु के जुमा मस्जिद के 500 मीटर के दायरे में दारा 144 लागू. (फोटो-ANI)

मंगलुरु के जुमा मस्जिद के 500 मीटर के दायरे में दारा 144 लागू. (फोटो-ANI)

कर्नाटक के मंगलुरु के मलाली में स्थित जुमा मस्जिद के आसपास 500 मीटर के दायर में पुलिस ने धारा 144 लागू कर दी है. साथ ही पुलिस ने मस्जिद के पास भारी संख्या बल में पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी है.

मंगलुरु. कर्नाटक के मंगलुरु के मलाली में स्थित जुमा मस्जिद के आसपास 500 मीटर के दायरे में पुलिस ने 24 मई की शाम से 26 मई को सुबह 8 बजे तक धारा 144 लागू कर दिया है. साथ ही पुलिस ने मस्जिद के पास भारी संख्या बल में पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई है. वहीं मस्जिद के बाहर ही हिंदू संगठन के लोगों ने विशेष पूजा की. मलाली में श्री रामंजनेय भजन मंदिर में विहिप और बजरंग दल के लोगों ने तांबुल प्राशन किया.वहीं इस मामले में गृह मंत्री अरगा ज्ञानेंद्र ने कहा कि जिला प्रशासन हालात पर नजर रखे हुए है. मंगलुरु पुलिस आयुक्त एनएस कुमार ने कहा कि हिंदू संगठन ने आज यानी कि 25 मई को एक अनुष्ठान किया, जो सुबह 8.30 बजे शुरू हुआ और 11 बजे तक जारी रहा.

इस दौरान पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी. ग्रामीणों ने सुनिश्चित किया कि कोई अप्रिय घटना नहीं होगी. दोनों पक्ष इसे अदालत में लड़ने के लिए तैयार हो गए हैं. जिला प्रशासन हर चीज पर नजर रखे हुए है। क्षेत्र में (मस्जिद के पास) धारा 144 लागू है. बता दें कि कथित तौर पर 21 अप्रैल को मस्जिद के नीचे एक हिंदू मंदिर जैसा वास्तुशिल्प डिजाइन पाया गया था. इसके बाद विश्व हिंदू परिषद के नेताओं ने जिला प्रशासन से अपील करते हुए मांग किया था कि जब तक मस्जिद के दस्तावेजों की पुष्टि नहीं होती, तब तक मस्जिद के जीर्णोद्धार का काम रोक दिया जा चाहिए.

कथित तौर पर मस्जिद के नीचे एक हिंदू मंदिर जैसा वास्तुशिल्प डिजाइन मिला है. बता दें कि बीते 21 अप्रैल को जुमा मस्जिद में नवीनीकरण कार्य के दौरान मंगलुरु के गुरुपरा तालुक में मलाली मार्केट में स्थित मस्जिद परिसर से हिंदू मंदिर जैसे आर्किटेक्चर की खोज की गई थी. बता दें कि मस्जिद प्रशासन की तरफ से मरम्मत का काम किया जा रहा था. मस्जिद के एक हिस्से को पहले ही ध्वस्त कर दिया गया था. कुछ हिंदूवादी संगठनों के मुताबिक मस्जिद बनने से पहले यहां पर एक मंदिर मौजूद था. इस बीच, दक्षिण कन्नड़ आयुक्तालय ने अगले आदेश तक संचरना को बनाए रखने का आदेश दिया है. साथ ही प्रशासन भू-अभिलेखों की जांच कर रहा है और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर