Home /News /nation /

चंडीगढ़ के लिए अलग प्रशासक नियुक्त करने की खबर को केंद्र ने नकारा, एक दिन पहले सुखबीर सिंह बादल ने किया था दावा

चंडीगढ़ के लिए अलग प्रशासक नियुक्त करने की खबर को केंद्र ने नकारा, एक दिन पहले सुखबीर सिंह बादल ने किया था दावा

MHA Chandigarh Administrator: शिअद प्रमुख ने कहा था कि चंडीगढ़ पंजाब का अविभाज्य हिस्सा है और उसे यथाशीघ्र उसके मूल राज्य को हस्तांतरित कर दिया जाना चाहिए.

MHA Chandigarh Administrator: शिअद प्रमुख ने कहा था कि चंडीगढ़ पंजाब का अविभाज्य हिस्सा है और उसे यथाशीघ्र उसके मूल राज्य को हस्तांतरित कर दिया जाना चाहिए.

MHA Chandigarh Administrator: शिअद प्रमुख ने कहा था कि चंडीगढ़ पंजाब का अविभाज्य हिस्सा है और उसे यथाशीघ्र उसके मूल राज्य को हस्तांतरित कर दिया जाना चाहिए.

    नई दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को स्पष्ट किया कि पंजाब के राज्यपाल से चंडीगढ़ के प्रशासक के रूप में जिम्मेदारी लेने का कोई प्रस्ताव उसके समक्ष विचाराधीन नहीं है. गृह मंत्रालय ने शिरोमणि अकाली दल अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल के इस दावे को भी खारिज कर दिया कि उन्होंने इस विषय को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ उठाया था. मंत्रालय ने चंडीगढ़ के प्रशासक को लेकर बादल की आशंकाओं को बेबुनियाद बताया.

    गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने आगे कहा, ‘यह स्पष्ट किया जाता है कि केंद्र ने पंजाब के राज्यपाल को चंडीगढ़ प्रशासक की इस जिम्मेदारी से हटाने का कोई निर्णय नहीं लिया है और न ही ऐसा कोई प्रस्ताव विचाराधीन है.’ इसके साथ ही उन्होंने यह भी साफ शब्दों में कहा कि सुखबीर सिंह बादल ने इस मुद्दे को गृह मंत्री के सामने नहीं उठाया है. उल्लेखनीय है कि वर्तमान में पंजाब के राज्यपाल चंडीगढ़ के प्रशासक का प्रभार भी संभालते हैं.

    सिद्धू के सलाहकार ने कैप्टन, शाह और पीएम पर लगाए गंभीर आरोप, दी सावधान रहने की सलाह

    दरअसल, एक दिन पहले खबर आई थी कि सुखबीर सिंह बादल ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से चंडीगढ़ के लिए पूर्ण प्रशासक नियुक्त करने के केंद्र सरकार के फैसले की समीक्षा करने का अनुरोध किया है. बादल ने बुधवार शाम शाह के साथ बैठक के दौरान इसे राजधानी शहर चंडीगढ़ पर पंजाब के दावे को कमजोर करने की एक और कोशिश करार दिया.

    शिअद प्रमुख ने कहा था कि चंडीगढ़ पंजाब का अविभाज्य हिस्सा है और उसे यथाशीघ्र उसके मूल राज्य को हस्तांतरित कर दिया जाना चाहिए. बादल ने केंद्रीय गृह मंत्री को इस बात से अवगत कराया था कि केंद्र शासित प्रदेश के लिए राज्य के बाहर से एक पूर्ण प्रशासक नियुक्त करने की कोई वजह नहीं है. बादल ने शाह से यह भी कहा था कि पंजाब के पुनर्गठन के समय लिए गये सभी फैसलों का एक-कर कर उल्लंघन किया जा रहा है. (इनपुट भाषा से भी)

    Tags: Chandigarh, Haryana news, Punjab

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर