अपना शहर चुनें

States

गृह मंत्रालय का अर्धसैनिक बलों को निर्देश- शहीद जवानों की स्मृति में बनाएं वाटिकाएं

गृह मंत्रालय ने बलों को शहीदों की याद में वाटिकाएं बनाने के निर्देश दिए हैं. (सांकेतिक तस्वीर)
गृह मंत्रालय ने बलों को शहीदों की याद में वाटिकाएं बनाने के निर्देश दिए हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

गृह मंत्रालय ने अर्धसैनिक बलों को देश की रक्षा के लिए प्राणों की आहुति देने वाले वीर जवानों की स्मृति में वाटिका बनाने और वहां उनकी तस्वीरें लगाने के निर्देश दिए हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) ने अर्धसैनिक बलों (Parliamentary Forces) को शहीदों के नाम पर "वाटिका (उद्यान)" बनाने और वहां उनकी तस्वीरें लगाने के निर्देश दिए हैं.  पिछले महीने हुई समीक्षा बैठक के बाद गृह मंत्रालय ने एक पत्र में कहा, "सभी बलों को शहीदों के लिए वाटिका बनानी चाहिए और उनकी तस्वीर भी वाटिका में लगानी चाहिए." मंत्रालय ने बलों को पुलवामा (Pulwama Attack) जैसे हमलों (जिसमें बड़ी संख्या में जवान शहीद हुए हों) में हुई शहादतों के लिए विशेष बागान बनाने के लिए भी निर्देश दिए हैं.

गृह मंत्रालय ने एक पत्र में कहा, "पुलवामा के शहीदों के लिए और इसी तरह जहां कई जवानों ने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है उनके लिए एक विशेष वाटिका बनाई जानी चाहिए और पुलिस स्मारक जैसी मूर्तियों को राइफल के साथ, उसके शीर्ष पर एक हेलमेट के साथ स्थापित किया जाना चाहिए." यह पत्र 26 नवंबर को अर्धसैनिक बलों के लिए गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) के वृक्षारोपण अभियान की समीक्षा बैठक के बाद जारी किया गया था.

ये भी पढ़ें- आंदोलन के बीच गन्‍ना किसानों को केंद्र का बड़ा तोहफा! चीनी निर्यात पर देगी 3500 करोड़ की सब्सिडी



6 हजार एकड़ जमीन पर लगाए जाएंगे पेड़
जुलाई में केंद्रीय गृह मंत्री शाह ने कोयला मंत्रालय द्वारा आयोजित "ट्री प्लांटेशन ड्राइव -2020" का शुभारंभ किया था. गृह मंत्री ने कहा था कि इस अभियान के तहत 10 राज्यों के 38 जिलों में 6,000 एकड़ भूमि पर पेड़ लगाए जाएंगे.

गृह मंत्री ने कहा था, "विकास की अंधी दौड़ में, हम भारतीय संस्कृति के मंत्र को भूल जाते हैं कि प्रकृति हमारी मां है और इसका दोहन नहीं किया जा सकता है. यही कारण है कि पृथ्वी का तापमान बढ़ रहा है और जलवायु को बुरी तरह प्रभावित कर रहा है. दुनिया जलवायु परिवर्तन से डरती है. पेड़ मनुष्यों के दोस्त हैं और केवल पेड़ ही हमें बचा सकते हैं."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज