मलाला ने कहा- कश्मीरी लड़कियों को स्कूल जाने में मदद करे UN, BJP सांसद ने दी यह सलाह

मलाला ने कहा- कश्मीरी लड़कियों को स्कूल जाने में मदद करे UN, BJP सांसद ने दी यह सलाह
मलाला की टिप्पणी के बाद भारतीय जनता पार्टी की सांसद शोभा करंदलाजे ने उनसे सवाल किया. REUTERS/Ginnette Riquelme

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) को लेकर मलाला यूसुफजई (Malala Yousufzai) की टिप्पणी के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सांसद शोभा करंदलाजे ने उनसे सवाल किया है. शोभा ने कहा कि मलाला को 'अपने देश में अल्पसंख्यक लड़कियों के जबरदस्ती धर्मांतरण और उत्पीड़न' के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 15, 2019, 3:20 PM IST
  • Share this:
नोबेल शांति पुरस्कार विजेता और पाकिस्तान (Pakistan) में शिक्षा अधिकारों के लिए काम करने वाली मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) ने जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) पर टिप्पणी की है. उन्होंने संयुक्त राष्ट्र ( United Nations) से अपील की है कि वह कश्मीर में शांति के लिए काम करे और बच्चों को स्कूल जाने में मदद करे.

मलाला यूसुफजई ने शनिवार को ट्वीट किया, 'मैं यूएनजीए (संयुक्त राष्ट्र महासभा) और उससे इतर नेताओं से अपील करती हूं कि वे कश्मीर में शांति के लिए काम करें. कश्मीर की आवाजें सुने और बच्चों को सुरक्षित स्कूल भेजने में मदद करें.' 22 वर्षीय मलाला ने कहा, 'वह इन रिपोर्ट्स के बारे में जानकर बहुत चिंतित हैं कि 40 दिनों से बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं.'

मलाला ने ट्वीट में कहा, मुझे सीधी बातचीत करनी है
उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैं कश्मीर में रहने वाली लड़कियों से अभी सीधे बातचीत करना चाहती हूं. कश्मीर में संचार माध्यमों पर पाबंदियों की वजह से लोगों की कहानियां जानने के लिए बहुत से लोगों को काफी काम करना पड़ा. कश्मीरी दुनिया से कटे हुए हैं और वह अपनी बात नहीं रख पा रहे हैं. कश्मीर को बोलने दो.’
मलाला की टिप्पणी के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद शोभा करंदलाजे ने उनसे सवाल किया है. शोभा ने कहा कि मलाला को 'अपने देश में अल्पसंख्यक लड़कियों के जबरदस्ती धर्मांतरण और उत्पीड़न' के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए.



शोभा करंदलाजे ने कहा कि नोबेल विजेता से ईमानदारी के साथ अनुरोध कर रही हूं कि वह पाकिस्तान के अल्पसंख्यकों के साथ कुछ समय बिताएं. अपने ही देश में अल्पसंख्यक लड़कियों पर हो रहे उत्पीड़न के खिलाफ बोलें. उन्होंने कहा, 'विकासात्मक एजेंडा कश्मीर तक बढ़ा, कुछ भी कम नहीं हुआ.'

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त होने के बाद से 5 अगस्त से कश्मीर में सामान्य जीवन प्रभावित है.  अधिकांश दुकानें और स्कूल बंद रहे और सार्वजनिक परिवहन की सेवाएं भी बंद हैं. (भाषा इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें: बालाकोट में भारतीय सैनिकों ने जान पर खेलकर स्कूली बच्चों को बचाया
PAK ने छिपाया सच, एयर स्ट्राइक में मारे गए पायलट्स के लिए बनवाया स्मारक
इमरान और नवाज के बीच हो गई डील, बेटी मरियम के साथ जल्द छोड़ेंगे पाकिस्तान!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading