Home /News /nation /

राफेल के आते ही भारतीय वायुसेना के बेड़े से हटेंगे मिग-21 विमान: रिपोर्ट

राफेल के आते ही भारतीय वायुसेना के बेड़े से हटेंगे मिग-21 विमान: रिपोर्ट

राफेल के आते ही भारतीय वायुसेना से हटेंगे मिग-21 विमान

राफेल के आते ही भारतीय वायुसेना से हटेंगे मिग-21 विमान

पहले चरण में साल 2022 तक सभी मिग-21 विमानों को हटाने का काम किया जाएगा. इसके बाद मिग-27 और मिग-29 विमानों को हटाया जाएगा.

    भारतीय वायुसेना अपने पुराने मिग विमानों को अगले तीन सालों में हटाने वाली है. इन सभी विमानों की जगह अत्‍याधुनिक राफेल विमान लेंगे. इस साल के आखिर तक भारत को राफेल मिलने शुरू हो जाएंगे. हिन्दुस्तान अखबार में छपी खबर के मुताबिक इन राफेल विमान के आने के साथ ही मिग-21 विमान को हटाने का काम शुरू कर दिया जाएगा.

    रक्षा मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक पहले चरण में साल 2022 तक सभी मिग-21 विमानों को हटाने का काम किया जाएगा. इसके बाद मिग-27 और मिग-29 विमानों को हटाया जाएगा. इन सभी विमानों को साल 2030 तक पूरी तरह से हटा लिया जाएगा. भारत को पहला राफेल विमान सितंबर तक मिलने की उम्‍मीद है. गौरतलब है कि 1964 में भारतीय वायुसेना का पहला सुपरसोनिक लड़ाकू विमान मिग-21 मिला था.

    इसे भी पढ़ें :- एक हफ्ते तक RR अस्पताल में रहेंगे अभिनंदन, शुरुआती पूछताछ हुई पूरी

    सूत्रों के मुताबिक भारत के पास इस समय करीब 40 से 45 मिग-21 विमान हैं. इन विमानों में से ज्‍यादातर को ट्रेनिंग देने में इस्‍तेमाल किया जाता है. हाल ही में मिग-21 बाइसन विमान ने पाकिस्‍तान के एफ-16 विमान को मारकर हर किसी को हैरान कर दिया था. सूत्रों के मुताबिक फ्रांस की ओर से सभी 36 विमान साल 2022 तक भारत को सौंप दिए जाएंगे. गौरतलब है कि मिग विमानों के क्रैश होने की खबरें लगातार बढ़ती जा रही हैं. पिछले 40 सालों में करीब 500 मिग विमान हादसे हुए हैं. इन हादसों में 171 पायलट और 39 नागरिकों की मौत हुई है.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Ministry of Defense, Rafale, Rafale deal, Trending news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर