मुठभेड़ में मारा गया आतंकी मन्नान बशीर वानी, AMU से की है पढ़ाई

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में पीएचडी का छात्र वानी इस साल जनवरी में आतंकवादी संगठन में शामिल हुआ था.

News18Hindi
Updated: October 11, 2018, 3:37 PM IST
मुठभेड़ में मारा गया आतंकी मन्नान बशीर वानी, AMU से की है पढ़ाई
(मन्नान वानी-फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: October 11, 2018, 3:37 PM IST
सुरक्षा बलों ने रिसर्च स्टूडेंट से आतंकी बने मन्नान बशीर वानी समेत हिजबुल मुजाहिद्दीन के दो आंतकवादियों को गुरुवार को उत्तर कश्मीर के हंदवाड़ा में मार गिराया. अधिकारियों ने बताया कि हंदवाड़ा के सतगुंड में अलसुबह मुठभेड़ शुरू हुई. यहां वानी (27) सहित दो अन्य आतंकियों की मौजूदगी की पुख्ता जानकारी मिली थी.

मुठभेड़ स्थल से मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस और सुरक्षा बल जैसे ही वहां पहुंचे उन पर आतंकवादियों ने गोलियां चलाईं. इसके बाद मुठभेड़ शुरू हुई, जो सुबह करीब 11 बजे तक चली. उन्होंने बताया कि मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने लगातार घोषणा कर आतंकवादियों से आत्मसमर्पण करने की अपील भी की.

अधिकारियों ने बताया कि सुबह करीब नौ बजे गोलीबारी रुक गई जिसके बाद पुलिस ने मुठभेड़ स्थल पर तलाशी अभियान शुरू किया लेकिन 15 मिनट बाद फिर से गोलीबारी शुरू होने के कारण तलाशी अभियान रोकना पड़ा. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में पीएचडी का छात्र वानी इस साल जनवरी में आतंकवादी संगठन में शामिल हुआ था.

यह भी पढ़ें- जालंधर से 3 कश्‍मीरी छात्र गिरफ्तार, AK-47 और भारी मात्रा में कारतूस बरामद

गौरतलब है जुलाई में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक कश्मीर घाटी में इस साल 15 जुलाई तक 110 स्थानीय युवा आतंकी संगठनों से जुड़े. इनमें सबसे अधिक 28 युवा दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के रहने वाले हैं. यह जिला आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित है.

अधिकारियों ने बताया कि पिछले साल 126 स्थानीय युवा आतंकवादी संगठनों से जुड़े थे तथा इस साल यह आंकड़ा और ऊपर जा सकता है. इसमें  27 वर्षीय पीएचडी शोधार्थी मन्नान बशीर वानी भी शामिल है. वह अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में पढ़ाई कर रहा था.

(एजेंसी इनपुट के साथ)
Loading...
यह भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर निकाय चुनाव: श्रीनगर में अब तक का सबसे कम 2.3% मतदान
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर