अपना शहर चुनें

States

नया खतरा: असम तक फैली Neo-JMB आतंकी संगठन की जड़ें, ISIS से जुड़े हैं इसके तार

सुरक्षा एजेंसियां असम में नियो जेएमबी समेत जैसे कई समूहों की उग्रवादी गतिविधियों को लेकर चौंकन्नी हैं. एजेंसियों लॉकडाउन के दौरान और भी ज्यादा सतर्क हो गईं हैं.
सुरक्षा एजेंसियां असम में नियो जेएमबी समेत जैसे कई समूहों की उग्रवादी गतिविधियों को लेकर चौंकन्नी हैं. एजेंसियों लॉकडाउन के दौरान और भी ज्यादा सतर्क हो गईं हैं.

नियो जेएमबी (Neo-JMB) बांग्लादेश (Bangladesh) के पुराने जेमबी का एक धड़ा है, लेकिन इसके तार इस्लामिक स्टेट जैसे वैश्विक आतंकवादी संगठन से जुड़े हुए हैं. यह समूह ढाका में जुलाई 2016 में होली आर्टिसन रेस्तरां पर हुए धमाके के बाद सुर्खियों में आया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 25, 2020, 11:23 AM IST
  • Share this:
(राजीव भट्टाचार्य)


दिसपुर. बांग्लादेश में इस्लामिक आतंकवादी समूहों के खिलाफ ऑपरेशन जारी है. इसकी वजह से कई आतंकियों ने बॉर्डर पार कर भारत (India) के कई इलाकों में शरण ली है. इन्हीं इलाकों में असम (Assam) का नाम भी शामिल है. सुरक्षा एजेंसियों और असम पुलिस को मिली जानकारी इन आतंकियों के नियो जमात उल मुजाहिदीन बांग्लादेश (Neo-Jamaat-ul-Mujahideen Bangladesh) से जुड़े होने के संकेत देती है. जानकारी के अनुसार, ये आतंकी राज्य में ब्रह्मपुत्र नदी के उत्तरी किनारे और उत्तर बंगाल में हैं.

सुरक्षा एजेंसियां असम में नियो जेएमबी समेत जैसे कई समूहों की उग्रवादी गतिविधियों को लेकर चौकन्नी हैं. एजेंसियां लॉकडाउन के दौरान और भी ज्यादा सतर्क हो गई हैं. असम पुलिस के डायरेक्टर जनरल भास्कर ज्योति महंत ने कहा, 'नियो जेमबी का असम में आना सच है. हम प्रकोप का सामना करने के लिए तैयार हो रहे हैं.'
यह भी पढ़ें - J&K: बारामूला में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, 3 आतंकी घिरे



क्या है नियो जेएमबी
नियो जेएमबी बांग्लादेश के पुराने जेमबी का एक धड़ा है, लेकिन इसके तार इस्लामिक स्टेट जैसे वैश्विक आतंकवादी संगठन से जुड़े हुए हैं. यह समूह ढाका में जुलाई 2016 में होली आर्टिसन रेस्तरां पर हुए धमाके के बाद सुर्खियों में आया था. इस हमले में 20 लोग मारे गए थे. जेएमबी के इस नए धड़े में कई संपन्न परिवारों के अंग्रेजी में पढ़े-लिखे लोग शामिल हैं. वहीं, इस समूह ने कई महिलाओं की भी बड़े पदों पर नियुक्ति की है. इनमें से कई महिलाएं बांग्लादेश में आतंकवाद के खिलाफ चलाई जा रही लड़ाई के दौरान गिरफ्तार कर ली गई थीं.

भारत में यह समूह 2018 में दलाई लामा के दौरे के दौरान बोध गया पर हुए धमाके के बाद चर्चा में आया था. इसके दो सदस्यों को पश्चिम बंगाल में गिरफ्तार किया गया था. इन आरोपियों ने मामले में शामिल होने की बात स्वीकारी थी. एजेंसियों का कहना है कि ये आतंकी तबलीगी जमात के सदस्यों की फर्जी आईडी का इस्तेमाल कर रहे हैं. गौरतलब है कि नियो जेएमबी असम और उत्तर बंगाल में जेएमबी के पुराने नेटवर्क का उपयोग कर रहा है.

रिपोर्ट्स में इस बात के भी संकेत मिलते हैं कि समूह बंग्लादेश की तर्ज पर असम में महिलाओं के एक वर्ग को भी तैयार करने की कोशिश कर रहा है. इस काम की जिम्मेदारी अस्मानी खातून को दी गई है. खातून पड़ोसी मुल्क में नियो जेएमबी की महिला विंग की कमांडर इन चीफ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज