कोरोना की तीसरी लहर के लिए तैयारी कर रहा महिला एवं बाल विकास मंत्रालय

महिलाओं और बच्‍चों के लिए बन रही खास रणनीति. (File pic)

महिलाओं और बच्‍चों के लिए बन रही खास रणनीति. (File pic)

Coronavirus in India: केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि चाइल्ड केयर इंस्‍टीट्यूशन में रह रहे बच्चों को अतिरिक्त सुविधा दी जाने की व्यवस्था केंद्र सरकार कर रही है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. मौजूदा समय में भारत कोरोना महामारी (Coronavirus) की दूसरी लहर से जूझ रहा है. लेकिन इसके साथ साथ जानकारों ने भारत में कोरोना महामारी (Covid 19) की तीसरी लहर के भी आने की बात कही है. इसमें सबसे अधिक बच्चों के प्रभावित होने की आशंका जताई जा रही है. इसी को लेकर केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्रालय (Ministry of women and child development) ने कमर कस ली है. मंत्रालय ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है.

मंत्रालय ने शुरू की यह पहल

केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि चाइल्ड केयर इंस्‍टीट्यूशन में रह रहे बच्चों को अतिरिक्त सुविधा दी जाने की व्यवस्था केंद्र सरकार कर रही है. इसके लिए महिला और बाल विकास मंत्रालय ने इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स को इस मुहिम में शामिल कर लिया है. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का कहना है कि इंडियन एकेडमी आफ पीडियाट्रिक्स द्वारा बच्चों को दी जाने वाली सुविधा वर्तमान मेडिकल सुविधा के अतिरिक्त होगी.

स्मृति ईरानी का कहना है कि इसके कारण बच्चों के केयरटेकर और चाइल्ड प्रोटेक्शन ऑफिसर पीडियाट्रिक से मेडिकल सलाह ले सकेंगे. यह मेडिकल सलाह सप्ताह में 6 दिन उपलब्ध रहेगी और इससे लगभग देशभर के 200 चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूशंस को फायदा मिलेगा.


इंडियन अकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स को दिया धन्यवाद

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कोरोना महामारी के दौरान सहयोग के लिए इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स को उनके सहयोग के लिए धन्यवाद दिया है. स्मृति ईरानी का कहना है कि इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स के लगभग 30,000 सदस्य हैं जो महामारी के दौरान बच्चों के स्वास्थ्य के लिए अपना बहुमूल्य योगदान दे रहे हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज