• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • युवकों को IS में शामिल कराने वाला बेंगलुरु निवासी सीरिया में मारा गया: रिपोर्ट

युवकों को IS में शामिल कराने वाला बेंगलुरु निवासी सीरिया में मारा गया: रिपोर्ट

एक डॉक्टर ने फैज मसूद की मौत की पुष्टि की (सांकेतिक फोटो)

एक डॉक्टर ने फैज मसूद की मौत की पुष्टि की (सांकेतिक फोटो)

फैज़ मसूद (Faiz Masood) की मौत की पुष्टि एक डॉक्टर ने की, जिसे हाल ही में NIA ने इस्लामिक स्टेट खुरासान प्रांत मामले (Islamic State Khorasan Province case) में गिरफ्तार किया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    नई दिल्ली. बिजनेस मैनेजमेंट (Business Management) में ग्रेजुएट बेंगलुरु (Bengaluru) का एक युवक, जिस पर शक था कि वह इस्लामिक स्टेट (Islamic State- Is) में शामिल हो गया है, उसके मारे जाने की रिपोर्ट सामने आई है. फैज़ मसूद (Faiz Masood) बेंगलुरु के एक धनी परिवार से ताल्लुक रखता था. वह पिछले सात सालों से लापता था. फैज मसूद की मौत की पुष्टि एक डॉक्टर (Doctor) ने की, जिसे हाल ही में NIA ने इस्लामिक स्टेट खुरासान प्रांत मामले (Islamic State Khorasan Province case) में गिरफ्तार किया था.

    इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक सूत्रों के बताया कि अब्दुर्र रहमान एक आंखों का डॉक्टर (opthalmologist) है. वह भी उन लोगों में शामिल था, जो 2013-14 में इस्लामिक स्टेट (IS) में शामिल होने के लिए सीरिया गये थे. मसूद के इराक और सीरिया (Iraq and Syria) में इस्लामिक स्टेट के साथ बहुत करीबी रिश्ते थे. और वह बेंगलुरु (Bengaluru) से युवाओं की IS में भर्ती कराने वाला एक महत्वपूर्ण व्यक्ति था. उसके परिवार (family) में उसके माता-पिता के अलावा, उसकी पत्नी और दो बच्चे हैं.

    पूर्वी बेंगलुरु से जाकर इस्लामिक स्टेट ज्वाइन करने वाले युवाओं के ग्रुप का हिस्सा
    अधिकारियों ने बताया कि मसूद उसके कैंप पर हुए एक हमले में मारा गया. मसूद ने सितंबर, 2013 में कतर छोड़ दिया था और तब से गायब था. उसके गायब होने की जानकारी उसके परिवार ने पुलिस को नहीं दी थी.

    सुरक्षा एजेंसियों के सामने उसका नाम पहली बार 2014-15 में तब सामने आया था, जब उसे उन संभावित भारतीयों में से एक माना गया था जो कि सीरिया में लड़ाई के दौरान मारे गये थे. अधिकारियों ने इसके बाद ही भारत से इस्लामिक स्टेट में भर्ती होने वाले युवाओं की जांच करने का काम शुरू किया था.

    यह भी पढ़ें: प्रयागराज- माफिया अतीक अहमद की एक और प्रॉपर्टी पर चला योगी सरकार का बुल्डोजर

    इसके बाद जांच में सामने आया था कि मसूद उन पूर्वी बेंगलुरु के अमीर युवाओं के समूह में से एक था, जो 2012-13 के दौरान अक्सर मिला करते थे, और धर्म पर चर्चा किया करते थे. इस समूह के युवाओं में से कई बाद में इस्लामिक स्टेट में शामिल हो गये थे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज