Home /News /nation /

मिशन 2024! देश में पक रही नई राजनीतिक खिचड़ी! आज शरद पवार से मिलेंगी ममता

मिशन 2024! देश में पक रही नई राजनीतिक खिचड़ी! आज शरद पवार से मिलेंगी ममता

पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी . (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी . (फाइल फोटो)

Mamata Banerjee-Sharad Pawar Meeting: बीते महीनों के दौरान ममता बनर्जी ने स्पष्ट संदेश दे दिए हैं कि तृणमूल 2024 के लोकसभा चुनाव में सिर्फ पश्चिम बंगाल तक सीमित नहीं रहेगी. इसी क्रम में शरद पवार के साथ उनकी मुलाकात को बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है. हालांकि शरद पवार और ममता बनर्जी की मुलाकात का जिक्र करते हुए महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और NCP नेता नवाब मलिक ने साफ कर दिया है कि कांग्रेस के बगैर एकजुट विपक्ष संभव नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में मिली प्रचंड जीत के बाद तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) कई राज्यों में पार्टी के पांव मजबूत करने में लगी हैं. त्रिपुरा में तृणमूल ने प्रचार की रफ्तार बढ़ा दी है तो वहीं गोवा और उत्तर प्रदेश में पार्टी गतिविधियां तेज हो गई हैं. इस बीच ममता बनर्जी अब राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के चीफ शरद पवार (Sharad Pawar) से आज मुलाकात करेंगी. बीते महीनों के दौरान ममता बनर्जी ने स्पष्ट संदेश दे दिए हैं कि तृणमूल 2024 के लोकसभा चुनाव में सिर्फ पश्चिम बंगाल तक सीमित नहीं रहेगी. इसी क्रम में शरद पवार के साथ उनकी मुलाकात को बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

    हालांकि शरद पवार और ममता बनर्जी की मुलाकात का जिक्र करते हुए महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और NCP नेता नवाब मलिक ने साफ कर दिया है कि कांग्रेस के बगैर एकजुट विपक्ष संभव नहीं है. उन्होंने कहा-ममता दीदी महाराष्ट्र के दौरे पर हैं, वो पवार साहब से मुलाकात करेंगी. मुलाकात के बाद वो प्रेस को संबोधित करेंगी और चर्चा के बारे में जानकारी देंगी.

    क्या बोले नवाब मलिक
    जब मलिक से पूछा गया कि क्या TMC इस वक्त कांग्रेस को साइडलाइन करने की कोशिश कर रही है तो उन्होंने जवाब दिया-तृणमूल पश्चिम बंगाल के बाहर अपना बेस बनाने की कोशिश कर रही है. हर पार्टी के पास ये अधिकार है. लेकिन कांग्रेस को बाहर रखकर बीजेपी के खिलाफ एकजुट विपक्ष तैयार करना लगभग नामुमकिन काम है.

    बीजेपी को चुनौती देने की कोशिश में तृणमूल
    एनसीपी नेता मलिक ने भले ही ममता बनर्जी और शरद पवार की मुलाकात को सामान्य मुलाकात बताया हो लेकिन तृणमूल बीते समय में लगातार बीजेपी को चुनौती देने की कोशिश कर रही है. हाल में कांग्रेस और तृणमूल के बीच जमकर विवाद भी हुआ है. कांग्रेस नेताओं के तृणमूल ज्वाइन करने के मामले पर दोनों पार्टियों में तूतू-मैंमैं हुई है.

    ये भी पढ़ें: क्या डेल्टा से भी घातक है ओमिक्रॉन, कितनी प्रभावी होगी वैक्सीन? टॉप साइंटिस्ट्स ने दिए इन जरूरी सवालों के जवाब

    महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन 
    वहीं महाराष्ट्र में इस वक्त शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस का वाला गठबंधन खुलकर भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ खड़ा है. ऐसे में संभव है कि लोकसभा चुनावों के मद्देनजर महाराष्ट्र में एक नई राजनीतिक खिचड़ी देखने को मिल सकती है.

    बंगाल बीजेपी अध्यक्ष ने साधा था निशाना
    हालांकि ममता बनर्जी के प्रयासों पर निशाना साधते हुए कुछ दिनों पहले पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा था कि तृणमूल को अपना पीएम प्रत्याशी घोषित कर देना चाहिए. उन्होंने कहा था-सबसे पहले हम चाहते हैं कि टीएमसी अपने पीएम पद का उम्मीदवार चेहरा बताए और फिर विपक्ष को यह तय करने दें कि वे ममता बनर्जी को विपक्ष के चेहरे के रूप में स्वीकार करेंगे या नहीं’

    Tags: CM Mamata Banerjee, Sharad pawar

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर